राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांगजन सशक्तीकरण श्री नरेन्द्र कश्यप ने नई दिल्ली में भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं सशक्तिकरण मंत्री श्री रामदास अठावले से की भेंट

 



भारत सरकार से सुगम्य भारत एवं सिपडा योजना में लंबित धनराशि को जारी करने का किया गया अनुरोध



पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग की ओर से 07 नये छात्रावासों के निर्माण हेतु धनराशि अवमुक्त करने तथा छात्रवृत्ति हेतु केन्द्राश की धनराशि बढ़ाये जाने हेतु प्रेषित प्रस्ताव को स्वीकृत करने का किया गया अनुरोध


लखनऊ 20 मई 2022 ,


प्रदेश के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांगजन सशक्तीकरण श्री नरेन्द्र कश्यप ने आज नई दिल्ली में भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं सशक्तिकरण मंत्री श्री रामदास अठावले से  भेंट की। सरकार एवं अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा राज्य में चलाये जा रहे विकास कार्यक्रमों व योजनाओं पर चर्चा हुई। मंत्री जी द्वारा भारत सरकार से सुगम्य भारत एवं सिपडा योजना में लंबित धनराशि को जारी करने का अनुरोध किया गया। इसके साथ ही दिव्यांग पुर्नवास एवम् दीनदयाल पुर्नवास योजना में लंबित अनुदान की धनराशि निर्गत करने का अनुरोध किया गया। उनके द्वारा यूडीआईडी कार्ड के लिए अतिरिक्त धनराशि की मांग भी की गयी। मंत्री जी द्वारा इन्दिरा गाँधी पेंशन योजनान्तर्गत 162343 लाभार्थियों को पेंशन का केंन्द्रांश 300 रूपये प्रति लाभार्थी जारी करने का अनुरोध किया गया, जो अभी 75280 का निर्गत किया जा रहा है। इसके साथ ही एडिप योजनान्तर्गत प्रत्येक संसदीय क्षेत्र में 50 अतिरिक्त मोटराइज्ड ट्राईसाइिकल सम्पूर्ण वित्त पोषण केंन्द्राश के द्वारा करने का अनुरोध किया गया। पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग की ओर से 07 नये छात्रावासों के निर्माण हेतु धनराशि अवमुक्त करने तथा छात्रवृत्ति हेतु केन्द्रांश की धनराशि बढ़ाये जाने हेतु प्रेषित प्रस्ताव को स्वीकृत करने का अनुरोध किया गया। मंत्रालय के अधिकारियो द्वारा लंबित प्रस्ताव को शीघ्र निस्तारित करने हेतु आश्वासन दिया।


बैठक सौहार्दय पूर्ण वातावरण में सम्पन्न हुई। मंत्री जी ने द्वारा मंत्री, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार को समय प्रदान करने एवं उत्तर प्रदेश के पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभागीय समस्याओं पर विचार करने हेतु उनका हृदय से आभार व्यक्त किया गया। भेंट के समय प्रतिनिधि मण्डल में श्री सत्यप्रकाश पटेल, निदेशक, दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग एवं श्रीमती वन्दना वर्मा निदेशक, पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग उपस्थित रहें।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर