धन की कमी नहीं बशर्ते उसका समय से करें सदुपयोग-आशीष पटेल


 प्राविधिक शिक्षा मंत्री ने निर्माणाधीन आई0टी0 इंजीनियरिंग कालेज का किया निरीक्षण गुणवत्ता ठीक करने का निर्देश




लखनऊ, 29 मई, 2022

प्रदेश के प्राविधिक शिक्षा, उपभोक्ता संरक्षण एवं बॉट माप मंत्री श्री आशीष पटेल  द्वारा जनपद मिर्जापुर के निर्माणाधीन आई0टी0 इंजीनियरिंग कालेज का निरीक्षण किया। उनके द्वारा पूरे एकडिक भवन, के एक-एक संकाय का भ्रमण कर निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने वीम पर टूटे प्लास्टर को देख नाराजगी व्यक्त करते हुये परियोजना प्रबन्धक सी0एन0डी0एस0 को निर्देशित किया कि निर्माण की गुणवत्ता को बनाये रखा जाए अन्यथा कडी कार्यवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि जितनी धनराशि अवशेष है उसका सदुपयोग किया जाए तथा अवशेष धनराशि की मांग तत्काल शासन से पत्राचार कर मांग कर ली जाए।  मंत्री ने कहा कि धन की कमी नहीं होने दी जाएगी परन्तु धन का सही सदुपयोग किया जाए तथा कार्य को समय से पूर्ण कराया जाए।
इंजीनियरिंग कालेज को मंत्री श्री आशीष पटेल ने जनपद मिर्जापुर के लिये एक बडा सौगात बताते हुऐ कहा कि उनका प्रयास है कि माह दिसम्बर तक मुख्य भवन का पूर्ण कराते हुये न्यूनतम व्यवस्थायें पूर्ण करा ली जाए ताकि आगे के सत्र में क्लास प्रारम्भ किया जा सके। बाकी निर्माण कार्य चलता रहे। निरीक्षण के दौरान पाई गई कमियों को सुधारने के लिये सम्बंधित कार्यदायी संस्था के अधिकारियों को सुधारने के लिये निर्देशित किया गया। उन्होंने कहा कि मीरजापुर के चहुमुखी विकास के लिये केन्द्रीय मंत्री श्रीमती अनुप्रिया पटेल  के नेतृत्व में लगातार प्रयासरत हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्नाथ  किसी स्तर पर लापरवाही, व गुणवत्ता के साथ कभी समझौता नहीं करते और भ्रष्टाचार के खिलाफ कडी कार्यवाई करते हैं। उन्होंने परियोजना प्रबन्धक को निर्देशित किया कि मजदूरों, व मशीनों की संख्या में बढोत्तरी करते हुये कार्य को समय से पूर्ण किया जाए। उन्होने मुख्य विकास अधिकारी श्री लक्ष्मी वीएस से कहा कि गुणवत्ता की जॉंच वे स्वंय अपने नेतृत्व में टेक्निकल टीम के द्वारा समय-समय करायें ताकि एक अच्छा भवन इंजीनिरिंयग कालेज को प्राप्त हो सके। इस अवसर पर निर्माणाधीन महिला पालीटेक्निक कालेज के प्रगति के बारे में भी जानकारी ली गयी तथा कमियों को पूर्ण कराते हुये तत्काल हैण्डओवर कराने का निर्देश दिया गया। इस अवसर पर निदेशक इंजीनियरिंग कालेज आजमगढ, उप जिलाधिकारी सदर श्री चन्द्रभान सिंह, परियोजना प्रबन्धक सी0एण्डडी0एस0, प्राचार्य पालीटेक्निक कालेज मीरजापुर के अलावा अन्य सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर