ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती भाषा विश्वविद्यालय में विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर विश्वविद्यालय परिसर में वृक्षारोपण किया गया


लखनऊ:  05 जून, 2022
ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती भाषा विश्वविद्यालय में विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर कुलपति प्रो. एन.बी. सिह के संरक्षण एवं कुलसचिव संजय कुमार के मार्गदर्शन में विश्वविद्यालय परिसर में वृक्षारोपण किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कुलसचिव ने कहा कि वृक्ष हमारे जीवन की सबसे महत्वपूर्ण धरोहर हैं, वृक्षों के बिना जीवन की परिकल्पना पृथ्वी पर संभव नहीं। कार्यक्रम में राष्ट्रीय सेवा योजना के समन्वयक डॉ. जावेद अख्तर ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के बिना मानवीय विकास पूर्णरूपेण संभव नहीं है, हमें इसे संरक्षित रखने के लिए निरंतर वृक्षारोपण करते रहना चाहिए जिससे हमारा विश्वविद्यालय परिसर हरा भरा रहे। डॉ. नलिनी मिश्रा, समन्वयक, महिला अध्ययन केंद्र तथा एएनओ, एनसीसी डॉ. ले. बुशरा अलवेरा ने महिला छात्रावास में कुलसचिव की उपस्थिति में फलदायक वृक्षों का रोपण किया। समन्वयक, महिला अध्ययन केंद्र ने महिलाओं एवं बालिकाओं को उनके स्वास्थ्य पर पढ़ने वाले पर्यावरण के प्रभाव के प्रति जागरूक किया। एएनओ, एनसीसी के नेतृत्व में एनसीसी कैडेट्स ने इस कार्यक्रम में बढ़-चढ़कर भागीदारी की और भविष्य को हरा भरा बनाने की शपथ ली। कार्यक्रम में राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी डॉ. नलिनी मिश्रा, डॉ. पूनम चौधरी, डॉ. शचींद्र शेखर,  डॉ. अभय कृष्णा एवं डॉ. जफरून नकी।रोवर्स रेंजर्स के प्रभारी डॉ. सिद्धार्थ सुदीप, एनसीसी की प्रभारी ले. डॉ बुशरा अलवेरा,  कुलानुशासक डॉ. नीरज शुक्ल, उपकुलानुशासक डॉ. नलिनी मिश्रा, सहायक कुलानुशासक डॉ बुशरा अलवेरा तथा डॉ .मनीष कुमार सहित भाषा विश्वविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना स्वयंसेवक और एनसीसी  कैडेट उपस्थित रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर