शासन की मंशा के अनुरूप समाज की अंतिम पंक्ति में बैठे व्यक्ति तक शासन की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाएं-पर्यटन मंत्री

 


मंत्री जयवीर सिंह ने विकास कार्यों की समीक्षा कर अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा-निर्देश



लखनऊ: 21 जून 2022
उत्तर प्रदेश के पर्यटन एवं संस्कृति तथा मंडल के प्रभारी मंत्री जयवीर सिंह ने शासन की मंशा के अनुरूप जनकल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन युद्ध स्तर पर अभियान चलाकर किये जाने का निर्देश दिया है। हर घर नल योजना अंतर्गत पाइप लाइन बिछाने के बाद जल निगम द्वारा सड़कों का समुचित मरम्मत न कराए जाने की विधायक सौरभ श्रीवास्तव एवं डॉ अवधेश सिंह द्वारा शिकायत किए जाने पर जलनिगम के अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि कार्यदायी संस्था को हिदायत दी जाय, कि पाइप लाइन बिछाने के पश्चात सड़क की मरम्मत अवश्य करा दें।
प्रभारी मंत्री जयवीर सिंह मंगलवार को सर्किट हाउस सभागार में विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा बैठक कर रहे थे। नगर निगम में सम्मिलित 84 ग्राम सभाओं में अवस्थापना सुविधाओं के अभाव के साथ ही समुचित साफ-सफाई न होने की जानकारी पर उन्होंने नगर आयुक्त को निर्देशित किया कि इन ग्राम सभाओं में अनियोजित कार्य न करें, जिससे सरकारी धन का दुरुपयोग न होने पाए। नगवा घाट पर बने एसटीपी में रमन्ना से ट्रीटमेंट होकर आने वाले जल के संबंध में शिकायत की गई कि बिना शोधित किए ही पानी पास कर दिया जा रहा है। जल निगम के अभियंताओं ने एसटीपी का क्षमता वृद्धि किए जाने की जानकारी दी। जिस पर मंत्री ने डीपीआर तैयार कर उपलब्ध कराए जाने का निर्देश दिया और निर्देशित किया कि बगैर शोधित जल कतई पास न किया जाए। गोवंश आश्रय स्थलों पर निराश्रित गोवंशो के खानपान व रहने आदि की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने हेतु मुख्य विकास अधिकारी को निर्देशित किया। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि शासन स्तर से उपलब्ध कराए जा रहे धनराशि से व्यवस्था की अतिरिक्त गांववासियों से भी इसके लिए सहयोग प्राप्त किया जाए। विद्युत आपूर्ति की समीक्षा के दौरान उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि निर्वाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित कराई जाए और जहां भी जर्जर एवं लटकते विद्युत तार हो, उन्हें तत्काल दुरुस्त कराया जाए। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
विद्युत विभाग के कतिपय जेई द्वारा अवैध रूप से धन उगाही किए जाने की जनप्रतिनिधियों की शिकायत पर मंत्री ने गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए कमिश्नर एवं जिलाधिकारी को प्रकरण को देखने तथा श्रीखंडपुर में 10 साल व एक अन्य ग्राम सभा मे 13 वर्ष से पड़े जेई को तत्काल हटाए जाने का निर्देश दिया। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि शासन की स्थानांतरण नीति का शत-प्रतिशत का पालन सुनिश्चित किया जाए।
प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना में धन उगाही किए जाने की जानकारी पर गहरी नाराजगी जताते हुए उन्होंने परियोजना अधिकारी डूडा को तलब करते हुए निर्देशित किया कि प्रधानमंत्री का गरीबों के लिये यह अति महत्वाकांक्षी योजना है, किसी भी स्तर पर अनियमितता बर्दास्त नहीं किया जाएगा। इसकी जांच कराकर के ऐसे लोगो के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई किए जाने का उन्होंने निर्देश दिया।
तत्पश्चात पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह ने वाराणसी में चल रहे पर्यटन विकास कार्यक्रमों के प्रगति की समीक्षा बैठक में निर्माणाधीन परियोजनाओं के दौरान कार्यदायी संस्थाओं को निर्देशित किया कि कार्यों को निर्धारित समय सीमा में गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराना सुनिश्चित करें। पर्यटन विभाग के द्वारा प्रेजेंटेशन के माध्यम से जनपद के पर्यटन स्थल एवं परियोजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी गयी। प्रभारी मंत्री ने कहा की संस्कृतियों का परिचय पर्यटन के माध्यम से ही लहराता है। उन्होंने कहा कि कि पर्यटन से जुड़े उद्योग को प्रोत्साहित करने के साथ ही इससे जुड़े लोगों का समय-समय पर उत्साहवर्धन करते रहना चाहिए। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा पूरे वाराणसी शहर को पर्यटन की दृष्टि से आकर्षक स्वरूप दिया जा रहा है। इस शहर की प्राचीनता सैलानियों को अपनी ओर खींच ही लाता है। उन्होंने कहा कि कोई भी योजना बनाने से पहले जनप्रतिनिधियों से विचार विमर्श जरूर करें। ऐसी परियोजनाएं न बनाएं जिससे पैसे की बर्बादी हो। जो परियोजनाएं पूर्ण हो जाएं, उसका प्रचार प्रसार किया जा जिससे जनता को मालूम हो इस जगह पर्यटन स्थल है।
बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम मौर्या, महापौर मृदुला जायसवाल, विधायक कैंट सौरभ श्रीवास्तव, विधायक पिंडरा डॉ अवधेश सिंह, विधायक अजगरा टी राम, क्षेत्रीय अध्यक्ष महेश श्रीवास्तव, जिला अध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा, मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा नगर आयुक्त प्रणय सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं विभागीय अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर