श्री ए0के0 शर्मा ने मोहनलालगंज में आयोजित बिजली महोत्सव एवं ऊर्जा दिवस का शुभारम्भ किया

 




प्रधानमंत्री श्री मोदी जी के नेतृत्व में देश ऊर्जा के क्षेत्र में अभूतपूर्व उपलब्धि हासिल की है


आज सुदूर गांव में भी, गरीब की झोपड़ी में ढिबरी के स्थान पर विद्युत बल्ब जल रहा है


ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने के लिए बिजली व्यवस्था में उत्पादन, पारेषण, क्षमता वृद्धि, उपभोग पर विशेष ध्यान दिया जा रहा


लखनऊ: 28 जुलाई, 2022

भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत प्रदेश में 25 जुलाई से 30 जुलाई, 2022 तक ‘उज्जवल भारत-उज्जवल भविष्य, पावर/2047’ महोत्सव का आयोजन प्रत्येक जनपद किया जा रहा है। जिसके अंतर्गत आज लखनऊ में अंबालिका इंस्टीट्यूट आफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी, मोहनलालगंज में आयोजित कार्यक्रम का शुभारम्भ प्रदेश के ऊर्जा एवं नगर विकास मंत्री श्री ए०के० शर्मा ने बतौर मुख्य अतिथि किया। भारत सरकार के विद्युत मंत्रालय, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय तथा प्रदेश सरकार के ऊर्जा विभाग के सहयोग से बिजली महोत्सव एवं ऊर्जा दिवस का प्रदेश के सभी जनपदों में आयोजन किया जा रहा है। 

इस अवसर पर श्री ए0के0 शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी जी के नेतृत्व में देश ऊर्जा के क्षेत्र में अभूतपूर्व उपलब्धि हासिल की है। देश प्रगति के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि बगैर पर्याप्त बिजली के कोई भी राष्ट्र व समाज आगे नहीं बढ़ सकता। जितने भी राष्ट्रों ने प्रगति की है, उसमें ऊर्जा का बहुत ही बहुमूल्य योगदान रहा है। देश को प्रगति के रास्ते पर ले जाने के लिए मोदी जी ने 15 अगस्त, 2015 को लाल किले से गांव-गांव बिजली पहुंचाने का संकल्प लिया था, जिसको उन्होंने 29 अप्रैल, 2018 को पूरा भी किया। इस दौरान देश 18500 गांवों में बिजली पहुँचायी गई। आज सुदूर गांव में भी, गरीब की झोपड़ी में भी ढिबरी के स्थान पर विद्युत बल्ब जल रहा है। इसी खुशी में यह उत्सव पूरे देश के 773 जिलों में मनाया जा रहा है इसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री जी एवं मुख्यमंत्री जी का आभार व्यक्त किया।

श्री ए0के0 शर्मा ने कहा की हमारा देश और समाज मोदी जी का सदैव ऋणी रहेगा। आज 05 मिनट के लिए बिजली चली जाए, तो लोगों के फोन आने लगते हैं। ऐसी स्थिति बन गई है। जैसे हवा पानी के बगैर जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती, उसी प्रकार बिजली के बिना भी अब रहना मुश्किल हो रहा है। इसलिए बिजली विभाग के कार्मिकों को सदैव सतर्क रहकर कार्य करना होगा। इसके प्रयास किए जा रहे हैं। हमारी आवश्यकताएं बढ़ी हैं। बिजली की मांग बढ़ी है। जरूरतों को पूरा करने के लिए बिजली व्यवस्था में उत्पादन, पारेषण, क्षमता वृद्धि, उपभोग पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। मोदी जी के प्रयासों से वर्ष 2014 में जो उत्पादन क्षमता 2,48,554 मेगावाट थी, वह बढ़कर 04 लाख मेगावाट अधिक हो गई है, जो कि हमारी मांग से 1,85,000 मेगावाट अधिक है और अब हम अपने पड़ोसी देशों को भी बिजली निर्यात कर पा रहे हैं।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि मोदी जी के प्रयासों से विद्युत उत्पादन की इकाइयां आज अच्छा कार्य कर रही हैं। भ्रष्टाचार खत्म हुआ है। ईमानदार और कर्तव्यपरायण अधिकारियों की यहां पर नियुक्ति की गई है। आज हमारा उत्पादन बढ़ा है। देश के एक कोने से दूसरे कोने तक बिजली पहुंचाने के लिए विश्व की सबसे बड़ी ट्रांसमिशन लाइन बनाई गई है और राष्ट्र को एकीकृत ग्रिड से जोड़ा गया है। अब कहीं पर भी बिजली का संकट नहीं होगा। उन्होंने कहा कि वर्ष 2017 में प्रदेश के 1,21,000 मजरे बिजली के बगैर थे, वहां पर योगी सरकार ने पिछले 05 वर्षों में बिजली पहुंचाई और प्रदेश के लगभग डेढ़ करोड़ घरों को भी रोशन किया। इस वर्ष योगी सरकार-2.0 में लगातार प्रचंड गर्मी से बिजली की मांग बेतहाशा बढ़ी और 11 जुलाई, 2022 को 26,504 मेगावाट बिजली की मांग को पूरा किया गया। नॉनपीक डिमाण्ड भी हमारी 19,000 मेगावाट से अधिक रही, जो कि विगत 10 वर्षों के पीक डिमाण्ड के बराबर है। इस वर्ष पिछले वर्ष की अपेक्षा 36 प्रतिशत ज्यादा विद्युत उत्पादन किया गया। पूरे देश में कोयले का संकट होने पर भी प्रदेश पर इसका असर नहीं पड़ा। पिछले वर्ष 45 लाख मी0 टन के सापेक्ष इस वर्ष 67 लाख मी0टन कोयले की खपत विद्युत इकाइयों ने की और 21 प्रतिशत ज्यादा क्षमता से कार्य किया। उन्होंने कहा कि जो भी बिजली आपूर्ति की जा रही है, उसका पूरा पैसा नहीं मिल पा रहा है, इसके लिए सभी नागरिक समय से अपना बिजली बिल जमा करें। उन्होंने आने वाले समय में 24 घंटे सभी उपभोक्ताओं को बिजली देने का वादा किया। उन्होंने कहा कि योगी सरकार ने उपभोक्ताओं की बिजली दरों में पहली बार ऐतिहासिक कमी की है, इससे सभी प्रकार के उपभोक्ताओं को फायदा होगा।

कार्यक्रम में ऊर्जा राज्यमंत्री डा0 सोमेन्द्र तोमर ने कहा कि हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री श्री मोदी जी के प्रयत्नों से आज गांव-गांव बिजली पहुँची है, पहले जहां 24 घण्टे में से 08 घण्टे से ज्यादा बिजली नहीं आती थी और गांव देहातों के लोगों से बिजली बहुत दूर थी। अब सभी जगह बिजली कार्मिकों के प्रयासों से पर्याप्त बिजली आपूर्ति की जा रही है। जहां कहीं पर भी बिजली पहंुचाना मुस्किल था, ऐसे घरों व गांव-मजरों को सौर ऊर्जा से रोशन किया गया है। इस अवसर पर मोहनलालगंज के विधायक श्री अमरेश कुमार रावत ने कहा कि योगी जी के नेतृत्व में मोहनलालगंज के 87 गांव में बिजली की अपूर्ति बहाल हो पायी है।

बिजली महोत्सव को लखनऊ के जिलाधिकारी श्री सूर्यपाल गंगवार ने संबोधित करते हुए कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार के प्रयासों से शहरी एवं ग्रामीण दोनों क्षेत्रों में पर्याप्त बिजली आपूर्ति मिल रही है। सोलर एनर्जी के प्रयोग में भी बढ़ोत्तरी हुई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की बढ़ती हुई आबादी को सुविधाएं देने एवं आर्थिक विकास के लिए बिजली व्यवस्था को सुदृढ़ किया जा रहा है तथा शहरी, ग्रामीण एवं औद्योगिक क्षेत्र के लिए बिजली आपूर्ति हेतु इन्फ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विगत 05 वर्षों में मध्यांचल ने 28 लाख नये उपभोक्ता जोड़ें हैं। वंचित को सरकार निःशुल्क कनेक्शन दिया है। 24 घण्टे लखनऊ वासियों को बिजली मिले इसके प्रयास किये जा रहे हैं।

कार्यक्रम में ऊर्जा विभाग द्वारा तैयार की गई हर-घर बिजली योजना पर लघु फिल्म प्रदर्शित की गई, कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम व बिजली बचत एवं सौर ऊर्जा की जानकारी के लिए नुक्कड़ का प्रदर्शन किया गया।

कार्यक्रम में लखनऊ के जोनल अधिकारी तन्मय दत्ता, एनटीपीसी के मिलन कुमार, योगेश कुमार, ऊर्जा मंत्रालय के राघवेन्द्र के साथ गणमान्य व्यक्ति एवं छात्र-छात्राएं, संस्थान के शिक्षक व कार्मिक उपस्थित रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर