सहारा हॉस्पिटल में विश्व प्लास्टिक सर्जरी डे मनाया गया




* 15 से 22 जुलाई तक मिलेगा प्लास्टिक सर्जरी की ओपीडी में नि:शुल्क परामर्श


लखनऊ : सहारा हॉस्पिटल में 15 जुलाई को विश्व प्लास्टिक सर्जरी डे के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर पूरे विश्व में प्लास्टिक सर्जरी के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए अनेक समारोह आयोजित किये गए। इस दिवस के इतिहास के संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए सहारा हॉस्पिटल के प्लास्टिक सर्जरी विभाग के सीनियर कंसलटेंट डॉ अनुराग पांडे ने बताया कि प्लास्टिक सर्जरी डे का प्रारंभ अपने देश से ही 2011 से हुआ जब महान भारतीय शल्य चिकित्सक महर्षि सुश्रुत जिन्होंने हजारों साल पहले ही जब विश्व के अनेक देशों में सभ्यता प्रारंभ भी नहीं हुई थी तब सामान्य सर्जरी एवम् प्लास्टिक सर्जरी  की अन्य प्रक्रियाओं का प्रतिपादन किया , को  याद करते हुए एसोसिएशन ऑफ प्लास्टिक सर्जन ऑफ इंडिया ने अनेक आयोजन किए ।

वर्ष 2021 से विश्व भर के प्लास्टिक सर्जन एसोसिएशन ने 15 जुलाई को प्लास्टिक सर्जरी डे के रूप में मान्यता देने पर सहमति जताई। 

इस अवसर पर लखनऊ के सहारा हॉस्पिटल में आम जनता के बीच प्लास्टिक सर्जरी के संबंध में जागरूकता उत्पन्न करने हेतु पूरे एक सप्ताह के लिए सुविधा उपलब्ध कराई है और डॉक्टर अनुराग ने जानकारी देते हुए यह भी बताया कि वर्तमान समय में आम जनता ही नहीं अपितु चिकित्सक समुदाय के बीच में भी प्लास्टिक सर्जरी को लेकर अनेक भ्रांतियां मौजूद है। लोग सामान्यतया फिल्मों के प्रभाव में केवल सुंदरता बढ़ाने वाली और चेहरा बदलने वाली सर्जरी के रूप में प्लास्टिक सर्जरी को जानते हैं जबकि प्लास्टिक सर्जरी हमारे बालों से लेकर पैर की उंगलियों और नाखून तक पूरे शरीर की बीमारियों और समस्याओं का समाधान करती है। उदाहरण के रूप में डॉ. अनुराग ने बताया कि आमतौर पर हम घावों के इलाज के लिए फिजिशियन या ज्यादा से ज्यादा सर्जन के पास जाते हैं किंतु जब महीनों के इलाज के बाद ठीक नहीं होता तब डॉक्टर या किसी और की सलाह पर हम प्लास्टिक सर्जन के पास जाते हैं यदि हम इसके विपरीत  शुरू में ही किसी प्रकार के घाव के लिए चाहे वह चोट लगने के बाद हो या किसी ऑपरेशन के बाद शुगर की बीमारी के कारण हुई घाव हो प्लास्टिक सर्जन की सलाह लें तो इतनी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा ।


सहारा हॉस्पिटल के वरिष्ठ प्लास्टिक सर्जन डॉ.रोमेश कोहली ने बताया कि चोट के सही उपचार के लिए मरीज का प्लास्टिक सर्जन के पास समय से पहुंचना जरूरी होता है, जिससे इलाज करने में ९० प्रतिशत ठीक होने की सम्भावना बढ़ जाती  है।


 

प्लास्टिक सर्जरी डे के उपलक्ष्य में सहारा इंडिया परिवार एवं सहारा हॉस्पिटल की ओर से अधिक जानकारी देते हुए सहारा इंडिया परिवार के सीनियर एडवाइजर  अनिल विक्रम सिंहजी ने बताया कि इस अवसर पर हमारे अस्पताल में अपनी प्लास्टिक सर्जरी सुपर स्पेशलिटी क्लीनिक जिसका आरंभ पिछले महीने ही हमारे माननीय अभिभावक "सहाराश्री" जी  सुब्रत राय जी के जन्मदिन पर किया गया था, को पूरे एक सप्ताह के लिए  शुल्क रहित कर दिया गया है। 

इस अवसर पर बताया गया कि "नेशनल प्लास्टिक सर्जरी डे" के उपलक्ष्य में 15 से 22 जुलाई तक सहारा हास्पिटल लखनऊ के प्लास्टिक सर्जरी विभाग की ओ.पी.डी में नि:शुल्क परामर्श दिया जा रहा है। सहारा इंडिया परिवार के सीनियर एडवाइजर श्री अनिल विक्रम सिंह जी ने बताया कि एक सप्ताह तक चलने वाली इस नि: शुल्क परामर्श में वुडं केयर, हैंड सर्जरी, वैस्कुलर मॉलफारमेंशन, कास्मेटिक गाइनोकोलॉजी, ब्रेस्ट एस्थेटिक और राइनोप्लास्टी इत्यादि के लिए सहारा हॉस्पिटल के वरिष्ठ, अनुभवी प्लास्टिक सर्जन की टीम डा. सुजीत भट्टाचार्य डॉक्टर रोमेश कोहली और डॉ. अनुराग पांडे सामूहिक रूप से इस ओपीडी में अपनी सेवाएं प्रदान करेंगे।


अधिक जानकारी या रजिस्ट्रेशन के लिए दूरभाष नम्बर 0522-6780001/0002 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर