भाग्यनगर से चमकेगा भाजपा व भारत का भाग्य


भाजपा की आक्रामक रणनीति से विरोधियां के उड़े होश !

मृत्युंजय दीक्षित 

आंध्र प्रदेश और तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में आयोजित भारतीय जनता पार्टी की कार्यकारिणी की बैठक भाजपा की भविष्य दृष्टि बताने वाली रही है। अपनी कार्यकारिणी बैठक में भाजपा नेतृत्व ने जैसे  तेवर दिखाए  उससे मोदी विरोधी दल सकपका जरूर गये होंगे। 

हैदराबाद की बैठक में भाजपा के सभी नेताओं ने हैदराबाद को भाग्यनगर कहकर संबोधित किया और उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाग्यलक्ष्मी मंदिर में पूजा अर्चना कर तेलंगाना व दक्षिण भारत में भाजपा की आगामी आक्रामक रणनीति का संदेश भी दे दिया । भाजपा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व व उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों के बल पर आगामी 30 से 40 वर्षों तक सत्ता में रहने का संकल्प ले लिया है और उसका रोडमैप भी बना लिया है जिसके कारण सभी विरोधी दलों व नेताओं की नींद हराम हो गयी है । भाजपा ने देश में परिवारवाद और जातिवाद के खिलाफ निर्णायक बिगुल बजाते हुए यह भी तय कर लिया है कि जिन लोगों ने देश पर दशकों तक  शासन किया था  अब उनको किसी भी हालत में सत्ता में जल्द वापस नहीं आने दिया जाएगा । 

भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के कामकाज व आर्थिक नीतियों की सराहना की गयी और कई नये लक्ष्य भी तय किए गये । कार्यकारिणी में भाजपा ने नये साहसिक प्रयोग करने का निर्णय लिया है और  जिन राज्यों में अभी तक कभी भी भाजपा की सरकार नहीं बन पाई है व पूर्व में किसी कारणवश बनते -बनते रह गयी हैं उन सभी राज्यों में भाजपा की सरकार बनाने का संकल्प लिया गया है। भाजपा कार्यकारिणी की बैठक में देश की वर्तमान व आगामी राजनीति के संदर्भ में गहन मंथन किया गया और आगामी 25 वर्षां के विकास कार्यों की विस्तृत रूपरेखा भी तैयार कर ली गयी है । अब सम्पूर्ण भारत में भाजपा के नेतृत्व में राजग गठबंधन को भी मजबूत बनाया जायेगा और इसके लिए नये प्रयोग भी किए जायेंगे। 

बैठक में गुजरात दंगों में प्रधानमंत्री मोदी को सुप्रीम कोर्ट से मिली क्लीनचिट पर भी चर्चा की गयी । कार्यकारिणी में राजनीतिक प्रस्ताव में कहा गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर दंगों जो आरोप लगाया गया था सुप्रीम कोर्ट के फैसले से वह पूरी तरह गलत साबित हुआ है क्योंकि दंगो के आरोप राजनीति से प्रेरित थे। पीएम मोदी ने अपने सभी दुखों को भगवान नीलकंठ की तरह अपने गले में धारण किया और कुछ नहीं कहा। भाजपा विरोधी सभी दलों, राजनीतिक विचारधारा वाले पत्रकार और कुछ एनजीओ के त्रिकोण ने मिलकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ साजिश रची। मोदी जी ने एसआईटी की पूछताछ का सामना किया और अपमान सहने के बावजूद संविधान के प्रति अपनी निष्ठा के कारण चुप्पी साधे रखी। 

आगामी चुनावों में भाजपा नई सोशल इंजीनियरिंग के सहारे चुनाव मैदान में उतरने जा रही है।  कार्यकारिणी में साफ संकेत दिया गया है कि अब पार्टी से दूर रहने वाली जातियों और वर्गों को भी साधने की रणनीति बनायी जाएगी। राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पीएम ने भाजपा को अजेय बनाने के लिए विभिन्न सामाजिक समीकरणों के साथ और अधिक नये प्रयोग करने और विशेषकर उत्तर प्रदेश में पसमांदा मुसलमानां के बीच पैठ बनाने का सुझाव दिया है। कार्यकारिणी में कहा गया है कि 2024 तक पूर्वोत्तर राज्यों की सभी समस्याओं का समाधान कर लिया जाएगा। तेलंगाना, पश्चिम  बंगाल, आंध्र, तमिलनाडु व ओडिशा में भी भाजपा सरकार बनायी जाएगी। प्रस्ताव में कहा गया है कि सीएए लागू करने में देरी हुई है लेकिन इसे लागू करने के लिए भाजपा व केंद्र सरकार पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। बैठक में राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू जी के चयन को ऐतिहासिक बताया गया है और कहा गया है कि जो उत्साह कलाम के लिए था वहीं मुर्मू जी के लिए है। 

प्रधानमंत्री ने बैठक में कहा कि भाजपा कार्यकर्ता अब अल्पसंख्यकों के बीच भी पहुंचे। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यकों के गरीब तबके के बीच पहुंचना चाहिए । कार्यकारिणी की बैठक में उदयपुर जैसी बर्बर घटनाओं पर चर्चा की गयी और कन्हैयालाल जी के निधन पर शोक  व्यक्त किया गया। बैठक में  5जी, 6जी, अंतरिक्ष में शोधगति शक्ति योजना और बुनियादी ढांचे से संबंधित सार्वजनिक क्षेत्र की बड़ी परियोजनाओं पर भी चर्चा की गयी है। बैठक में अग्निवीर योजना और प्रधानमंत्री द्वारा  सरकारी नौकरियां में 10लाख लोगों की भर्ती करने की योजना की सराहना की गयी है। 

आगामी 2024 में लोकसभा चुनाव व 2023 के विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए भाजपा ने सरकारी योजनाओे के 30 करोड़ लाभार्थियों तक पहुंच बढ़ाने और “हर घर तिरंगा” अभियान के सहारे 20 करोड़ लोगों को भाजपा से जोड़ने का अभियान भी अमृत महोत्सव अभियान के अंतर्गत चलाया जायेगा। पार्टी हर बूथ पर कम से कम 200 कार्यकर्ताओें को अभी से ही सक्रिय करने जा रही है । संगठन को मजबूत बनाने के लिए कार्यक्रमों व अभियानों  की पूरी श्रृंखला तैयार की जा रही है। बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं का व्हाट्सएप ग्रुप बनाने के साथ ही पन्ना प्रमुखों को और व्यवस्थित किया जाएगा। 

बैठक में परिवारवाद की राजनीति पर जमकर हमला बोला गया है । बैठक को संबोधित करते हुए भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कहा कि भाजपा जहां गरीबों के कल्याण के लिए काम कर रही है गरीबों को सशक्त बनाने में जुटी है वहीं विपक्षी दल सिर्फ अपने परिवारों को ही मजबूत कर रहे हैं। 

तेलंगाना में आयोजित राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गृहमंत्री अमित शाह  और राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नडडा ने एक विशाल  जनसभा को संबोधित किया और अपने जोशीले संबोधन से केसीआर सरकार को यह साफ संकेत दे दिया है कि इस बार तेलंगाना में परिवारवादियों की सरकार जा रही है और राज्य के पिछड़ेपन को दूर करने के लिए गरीब जनता ने इस बार भाजपा की सरकार बनाने का फैसला कर लिया है। हैदरबाद  में आयोजित रैली में भी वक्ताओं ने परिवारवादी भ्रष्टाचार में लिप्त सरकार पर तीखा हमला बोला । प्रधानमंत्री मोदी की रैली में गजब का उत्साह था और भीड़ मोदी -मोदी के गगनभेदी नारे लगा रही थी जिससे तेलंगाना का राजनीतिक मिजाज समझा जा सकता था। 

जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैदराबाद एयरपोर्ट पर उतरे और वहां के मुख्यमंत्री केसीआर ने सामान्य प्रोटोकॉल के तहत उनकी अगवानी तक नहीं की। मुख्यमंत्री के. चन्द्रशेखर राव द्वारा प्रधानमंत्री का बहिष्कार किए जाने को आम लोगों ने काफी गंभीरता से लिया है और वहां की जनता ने इसे ठीक नही समझा है जिसका असर आगामी दिनों की राजनीति में  दिखायी पड़ सकता है। 

कार्यकारिणी का एक दिलचस्प पहलू यह भी रहा है कि नरेंद्र मोदी कार्यकारिणी की बैठक में मौजूद हर प्रतिनिधि से गर्मजोशी  से मिले और सभी के साथ चर्चा की, समस्या सुनी और समाधान के साथ विचार भी दिये। कार्यकारिणी में प्रधानमंत्री के तेवरों से साफ नजर आ रहा था कि उनके नेतृत्व में भाजपा न अभी रुकेगी और नहीं थकेगी। केंद्र में अभी फिलहाल विरोधी दलों के  लिए कोई जगह नहीं खाली  है। 

कार्यकारिणी की बैठक में प्रधनमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो  नये प्रयोग करने की बात कही है वह महाराष्ट्र की राजनीति के संदर्भ में भी है और गुजरात की राजनीति के संदर्भ  में भी जहां भाजपा ने अपना ही पूरा का पूरा मंत्रिंमडल बदलकर रख दिया है और साथ ही अपने धुर विरोधी हार्दिक पटेल को अपने साथ लाकर एक बड़ा  दूरगामी संदेश दिया है। 

गृहमंत्री अमित शाह ने अपने संबोधन में स्पष्ट कर दिया है कि  आगामी 30 से 40 सालों तक भाजपा का युग रहेगा और भारत विश्वगुरु बनेगा।  वंशवादी राजनीति, जातिवाद और तुष्टिकरण की राजनीति सबसे बड़ा पाप थे। अब इन सभी का अंत हो रहा है। वहीं प्रधानमंत्री ने भी स्पष्ट कर दिया है कि अब किसी का तुष्टिकरण नहीं अपितु तृप्ती करण होगा।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर