उस्ताद शायर नासिर अली नदीम साहब की गज़ल संग्रह के "शाश्वत संवाद "की समीक्षा एवं प्रथम अशित मित्तल स्मृति सम्मान समारोह


 संकल्प एवं बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय हिन्दी विभाग  के संयुक्त तत्वावधान में सुप्रसिद्ध कवि एवं उस्ताद शायर श्रीयुत नासिर अली नदीम साहब की गज़ल संग्रह के "शाश्वत संवाद "की समीक्षा एवं प्रथम अशित मित्तल स्मृति सम्मान समारोह उत्तर प्रदेश शासन के राज्य मंत्री(दर्ज़ा प्राप्त)  हरगोविन्द कुशवाहा के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम में समीक्षक के रूप में सर्व श्री प्रोफेसर उदय त्रिपाठी, वंशीधर मिश्र, यज्ञदत्त त्रिपाठी, डाॅ रेनू चन्द्रा, अनिल शर्मा, विनोद भावुक जी ने शाश्वत संवाद पर अपने सारगर्भित विचार रखे। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रोफेसर पुनीत बिसारिया ने तथा संचालन अर्जुन सिंह चाँद ने किया। इससे पूर्व अतिथियों का स्वागत और सम्मान स॔स्था अध्यक्ष श्री सत्य प्रकाश ताम्रकार सत्य,महासचिव संजीव दुबे ,सी बी राय तरुण ,रिपुसूदन नामदेव,वैभव दुबे,कुंती हरीराम, डाॅ मोहम्मद नईम, डाॅ मकीन सिद्दिकी कोंचवी,  बलराम सोनी,देवेन्द्र भारद्वाज आदि ने किया। प्रारम्भिक संचालन डाॅ मुहम्मद नईम ने किया। कार्यक्रम में श्री नदीम साहब को अशित मित्तल स्मृति सम्मान श्रीमती उमा मित्तल एवं चिनमय मित्तल द्वारा प्रदान किया गया। द्वितीय सत्र में विश्वविद्यालय के ग्यारह छात्रों का काव्य पाठ हुआ साथ ही कार्यक्रम में उपस्थित लगभग डेढ़ दर्जन झांसी नगर के कवियों का भी काव्य पाठ हुआ। कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के प्राध्यापकों,विद्यार्थियों सहित नगर के गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !