दिल का रिश्ता

 इजहारे मोहब्बत से कोई दोस्त यार नहीं बनता दिल का रिश्ता है ये इकरार करने से नहीं बनता।

बस जाएं कोई दिलोदिमाग में दिल को तसल्ली देनेवाली अदा से,उस से अच्छा कोई यार नहीं बनता।

अजीब रिश्ता है दोस्ती कद्र हो न हो इस रिश्ते की सच्चा दोस्त कभी गद्दार नहीं बनता।

खुन के रिश्तों में गर मील जाएं दोस्तीे,दुनिया मे इस से बढ़कर कोई रिश्ता नहीं बनता।

आशफाक खोपेकर

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर