निर्माण कार्य अधोमानक पाये जाने पर कार्यदायी संस्थाओं के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जायेगी-जयवीर सिंह


 कालिंजर में पर्यटन विकास का कार्य शुरू कराये -जयवीर सिंह


 प्रदेश में एडवेन्चर टूरिज्म को बढ़ावा देने के निर्देश
लखनऊ: दिनांक 08 जुलाई, 2022
उत्तर प्रदेश के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्री जयवीर सिंह ने उत्तराखण्ड के हरिद्वार में नवनिर्मित भगीरथ होटल की गुणवत्ता अधोमानक पाये जाने पर कार्यदायी संस्था उ0प्र0 राजकीय निर्माण निगम के अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाते हुए जो भी खामियां हैं उसकों तत्काल सुधार करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि इसके पूर्व भी कई बार राजकीय निर्माण निगम सहित पर्यटन विभाग में कार्य करने वाली अन्य कार्यदायी संस्थाओं को साफ तौर से कहा गया था कि निर्माण कार्यों में गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं किया जायेगा। गुणवत्ता खराब पाये जाने पर संबंधित ठेकेदार से कटौती एवं एफआईआर भी दर्ज करायी जायेगी।
पर्यटन मंत्री आज पर्यटन भवन में पर्यटन विभाग के अंतर्गत स्वेदश दर्शन, प्रासाद एवं अन्य सर्किटों में कराये जा रहे निर्माण कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने समस्त केन्द्रीय योजनाओं में कराये गये कार्यों की थर्ड पार्टी परीक्षण कराने के निर्देश दिए। इसके अलावा आगरा एवं मथुरा की परियोजनाओं के टेन्डर शीघ्र जारी करने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त चित्रकूट का समेकित पर्यटन विकास कराये जाने के निर्देश दिए।
श्री जयवीर सिंह हेरीटेज सर्किट के अंतर्गत कालिंजर में पर्यटन विकास का कार्य शुरू कराये जाने के निर्देश दिए। इसके अलावा वाराणसी पर्यटन विकास से संबंधित परियोजनाओं की सूचना समय से प्रेषित करने तथा प्रासाद स्कीम के तहत कराये जा रहे कार्यों को समय से पूरा करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही एडवेन्चर टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिये।
प्रमुख सचिव पर्यटन श्री मुकेश मेश्राम ने कार्यदायी संस्थाओं को स्पष्ट रूप से चेतावनी देते हुए कहा कि निर्माण कार्यों में किसी प्रकार की लापरवाही एवं गुणवत्ता में कमी पाये जाने पर संबंधित कार्यदायी संस्था के खिलाफ कठोर से कठोर कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने निर्माणाधीन परियोजनाओं के समस्त कार्य पूरा किये जाने के निर्देश दिए।
समीक्षा बैठक में प्रबंध निदेशक पर्यटन विकास निगम श्री अश्विनी कुमार पाण्डेय, विशेष सचिव संस्कृति श्री आनन्द कुमार सिंह, उप निदेशक पर्यटन श्री दिनेश, विभिन्न जनपदों से वर्चुअल जुड़े हुए क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी एवं मुख्यालय के अधिकारी मौजूद थे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर