खिलाड़ियों के बहुमुखी निखार हेतु विभिन्न योजनाएं संचालित-गिरीश चन्द्र यादव

 



खेल क्रिया-कलापों के विकास को गति दी जा रही है

लखनऊः 17 जुलाई, 2022

सरकार द्वारा प्रदेश में खेल क्रिया-कलापों के विकास एवं खिलाड़ियों के खेल में बहुमुखी निखार लाने  एवं समुचित अवसर प्रदान करने के दृष्टिकोण से विविध योजनाएं संचालित की जा रही है।
प्रदेश के खेल एवं युवा कल्याण राज्यमंत्री (स्वतन्त्र प्रभार) गिरीश चन्द्र यादव ने मीडिया सेन्टर लोकभवन में सरकार के 100 दिन की उपलब्धियों पर आयोजित प्रेस-वार्ता के दौरान यह बात कही। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री जी के कुशल नेतृत्व में प्रदेश सरकार ने सेवा सुरक्षा और सुशासन के लिए समर्पित 100 दिन पूर्ण किये है।
  खेल विभाग से संबंधित जानकारी देते हुए मंत्री जी ने बताया कि अन्तर्राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं में पदक विजेता खिलाड़ियों को राजपत्रित पदों पर सीधी भर्ती के माध्यम से नियुक्ति प्रदान किये जाने संबंधी नियमावली का प्रख्यापन किया गया, जिसके तहत आवेदन आमन्त्रित किये जाने की कार्यवाही प्रचलित है। उन्होने बताया कि मेजर ध्यानचन्द खेल विश्वविद्यालय मेरठ के संचालन हेतु कुलपति, कुलसचिव एवं वित्त अधिकारी के पदों का सृजन किया गया। उन्होने यह भी बताया कि महिला एथलीटों के उत्साहवर्धन हेतु रू0 5.00 लाख की धनराशि दिये जाने संबंधी दिशा-निर्देश निर्गत किये जा चुके है।
मंत्री जी ने बताया कि 04 जनोपयोगी परियोजनाएं- मेरठ में हॉकी मैदान, सहारनपुर व वाराणसी में सिन्थेटिक रनिंग ट्रैक तथा गोरखपुर के जंगल कोड़िया विकास खण्ड में स्टेडियम का निर्माण अन्तिम चरण में है। उन्होने बताया कि 16 अतिरिक्त क्रीड़ाधिकारियों, 100 अतिरिक्त उप क्रीड़ाधिकारियों तथा 150 अतिरिक्त सहायक प्रशिक्षकों के पद सृजित किये जाने की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है। मंत्रि-परिषद के अनुमोदन हेतु स्पोर्टस पॉलिसी तैयार कर ली गयी है। एक जिला एक खेल योजनान्तर्गत 32 जनपदों में प्रशिक्षकों के चयन की कार्यवाही पूर्ण कर ली गयी है तथा शेष जनपदों में चयन की कार्यवाही अन्तिम चरण में है, की भी जानकारी मंत्री जी द्वारा प्रेस-वार्ता में दी गई।
इस अवसर पर प्रमुख सचिव खेल कल्पना अवस्थी निदेशक आर0पी0 सिंह आदि भी मौजूद रहें।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !