NAAC मूल्‍यांकन में मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्‍वविद्यालय (एम0एम0एम0यू0टी0) गोरखपुर को मिला ए-ग्रेड,  वर्तमान में यह उपलब्धि हासिल करने वाला उ0प्र0  का एक मात्र राज्‍य विश्‍वविद्यालय-प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशीष पटेल 

 


लखनऊ।


प्रदेश के प्राविधिक शिक्षा, उपभोक्ता संरक्षण एवं बांट माप मंत्री आशीष पटेल आज लोकभवन स्थित मीडिया संटर में प्रदेश सरकार के 100 दिन पूरे होने पर प्राविधिक शिक्षा विभाग की उपलब्धियों के सम्बन्ध में प्रेस वार्ता कर जानकारी दी। उन्होंने बताया कि  मुख्‍यमंत्री जी के निर्देशों के क्रम में  प्राविधिक शिक्षा विभाग द्वारा 100 दिवसीय कार्ययोजना के अन्‍तर्गत कुल 05 कार्य पूर्ण किये जाने हेतु लक्ष्‍य निर्धारित किये गये थे, जिनमें से 04 कार्य पूर्ण तथा 01 कार्य प्रक्रियाधीन है।

 

       प्राविधिक शिक्षा मंत्री ने बताया कि प्राविधिक शिक्षा विभाग के अन्‍तर्गत  02 राजकीय पालीटेक्निक बछरांवा रायबरेली एवं किशनी मैनपुरी के आवासीय/अनावासीय भवन के साथ-साथ 15 निर्माणाधीन छात्रावासों के कार्यों को पूर्ण कराने का लक्ष्‍य रखा गया था। 02 पालीटेक्निक तथा 15 छात्रावासों के सापेक्ष 18 निर्माणाधीन छात्रावासों का निर्माण कार्य पूर्ण कराकर हस्‍तान्‍तरित कराया गया है तथा इन्‍हें जनोपयोगी बनाया जा रहा है।

 

       मंत्री आशीष पटेल ने बताया कि प्रदेश की पालीटेक्निक संस्थाओं में अध्ययनरत छात्र व छात्राओं को नवीन तकनीकी ज्ञान अर्जित करने एवं समस्‍त विभागीय गतिविधियों तथा संस्थानों में उपलब्ध इनवेन्‍ट्री से अवगत कराने के उद्देश्य से यू-राइज पोर्टल विकसित किया गया है। जिसमें छात्र व छात्राओं को वीडियों लेक्‍चर, ई-कन्‍टेन्‍ट, आन-लाइन उपस्थिति, आन-लाइन शुल्‍क जमा किया जाना, डिजी लाकर्स एवं परिषद परीक्षा परिणाम देखने की सुविधा प्राप्‍त हो रही है। उन्होंने बताया कि छात्र व छात्राओं एवं जनमानस को प्राविधिक शिक्षा से संबंधित समस्‍त जानकारी एक ही स्‍थान पर उपलब्‍ध कराये जाने हेतु रियल टाइम डैशबोर्ड की स्‍थापना कि गई है। यू-राइज पोर्टल पर इन्‍वेन्‍ट्री मैनेजमेंट सिस्‍टम विकसित किया गया है। इन्‍वेन्‍ट्री सिस्‍टम में संस्‍थानों में उपलब्‍ध लैबशाप, उपकरण, संयत्र तथा फर्नीचर, आदि का अंकन किया गया है जिसके माध्यम से क्रय प्रक्रिया को प्रभावी बना कर उपकरणों कि उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाएगी ।

 

 

प्राविधिक मंत्री ने बताया कि प्रत्‍येक राजकीय पालीटेक्निक में एक स्‍वतंत्र व आधुनिक ट्रेनिंग कम प्‍लेसमेन्‍ट सेल (टीसीपीसी) की स्‍थापना की जा रही है। इस हेतु टी0सी0पी0ओ0 के साथ प्‍लेसमेन्‍ट सेल की स्‍थापना के संदर्भ में सेन्‍ट्रल टी0सी0पी0ओ0 (संयुक्‍त निदेशक, मध्‍यक्षेत्र), मण्‍डलवार टी0सी0पी0ओ0  नामित किये गये है। उन्होंने बताया कि यू-राइज पार्टल पर प्‍लेसमेन्‍ट मॉड्यूल विकसित किया गया है, जिससे समस्‍त हित धारको हेतु पोर्टल पर सुविधाएं उपलब्‍ध करा दी गयी है।

 

मंत्री आशीष पटेल ने बताया कि वर्तमान प्रदेश सरकार के डिजीटल इण्डिया अभियान तथा दिन-प्रतिदिन होते आटोमेशन को दृष्टिगत रखते हुये उद्योगों में हो रहे नित प्रौद्योगिकी विकास के अनुरूप प्रशिक्षित जनशक्ति उपलब्‍ध कराने के दृष्टिगत आगामी सत्र से न्यू ऐज कोर्स के अंतर्गत 04 पाठ्यचर्या का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि इन पाठ्यचर्या में    पी0जी0 डिप्‍लोमा इन डाटा साइंस एवं मशीन लर्निग, पी0जी0 डिप्‍लोमा ड्रोन टेक्‍नोलॉजी,  पी0जी0 डिप्‍लोमा इन साइबर सिक्यूरिटी तथा  पी0जी0 डिप्‍लोमा  इण्‍टरनेट आफ थिंग्‍स है।

 

प्राविधिक शिक्षा मंत्री ने बताया कि वर्ष 1997 में स्‍थापित डॉ० आम्‍बेडकर इंस्‍टीट्यूट आफ टेक्‍नोलॉजी फार हैण्‍डीकैप्‍ड संस्‍थान, कानपुर के दिव्‍यांग छात्र-छात्राओं के सामाजिक एवं आर्थिक स्‍तर में सुधार हेतु शासनादेश दिनांक 23.01.1998 द्वारा नि:शुल्‍क शिक्षा, छात्रावासीय सुविधा के अतिरिक्‍त सभी छात्र व छात्राओं को शीतकालीन तथा ग्रीष्‍मकालीन वर्दी की सुविधा, छात्रवृत्ति तथा संस्‍थान के छात्रावास में रहने वाले छात्र व छात्राओं को 250 रूपये प्रति माह की फूड सब्सिडी अनुमन्‍य की गई है। उन्होंने बताया कि फूड सब्सिडी की राशि 250 रूपये से  बढाकर  3000 रूपये  प्रतिमाह किये जाने की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है।

 

मंत्री आशीष पटेल ने बताया कि डॉ० ए0पी0जे0 अब्‍दुल कलाम प्राविधिक विश्‍वविद्यालय (ए0के0टी0यू0) लखनऊ के सेन्‍टर फॉर एडवान्‍स स्‍टडीज में स्‍टार्ट-अप कल्‍चर को बढावा देने के लिये “इनोवेशन हब” की स्‍थापना की गयी है। विश्‍वविद्यालय के इनक्‍यूवेशन सेन्‍टर में 15 स्‍टार्टअप आईडिया को चयनित किया गया है। उन्होने बताया कि ए0के0टी0यू0 कैम्‍पस में स्‍टार्टअप को बढावा देने के उद्देश्‍य के साथ 18 जून 2022 को ''स्‍टार्टअप संवाद: स्‍टार्टअप चैलेन्‍ज एवं एक्‍सपो'' का सफल आयोजन किया गया, जिसमें शासन स्‍तर के उच्‍चधिकारियों के साथ-साथ विभिन्‍न क्षेत्रों के प्रतिष्ठित गणमान्‍य शिक्षाविद तथा अनेक स्‍टार्टअप्‍स द्वारा प्रतिभाग किया गया।

 

प्राविधिक शिक्षा मंत्री ने बताया कि  उ0प्र0 स्‍टार्टअप नीति-2020 के तहत प्रदेश के राजकीय इंजीनियरिंग कालेजों  एवं ए0के0टी0यू0 के घटक संस्‍थानों में कुल 15 इनक्‍यूवेशन सेन्‍टर स्‍थापित किये गये है। उन्होने बताया कि  NAAC मूल्‍यांकन में मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्‍वविद्यालय (एम0एम0एम0यू0टी0) गोरखपुर ने ए-ग्रेड प्राप्‍त किया गया है। वर्तमान में यह उपलब्धि हासिल करने वाला उ0प्र0  का यह एक मात्र राज्‍य विश्‍वविद्यालय है। इसके अतिरिक्‍त आई0ई0टी0 लखनऊ द्वारा NBA ACCREDITATION भी प्राप्‍त किया गया।

 

मंत्री आशीष पटेल ने बताया कि पं0 दीनदयाल उपाध्‍याय गुणवत्‍ता सुधार कार्यक्रम (DDUQIP) योजनान्‍तर्गत प्रदेश के डिग्री स्‍तरीय सहयुक्‍त/सम्‍बद्ध राजकीय संस्‍थानों एवं 02 आवासीय तकनीकी विश्‍वविद्यालयों में इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर, प्रयोगशालाओं का सुदृढीकरण व उच्‍चीकरण शोध को बढावा देने एवं ई-संसाधनों के विकास हेतु प्रथम चरण में 200 करोड रूपये स्‍वीकृत किये गये है। संबंधित विद्यार्थियों, शिक्षकों एवं शोधार्थियों को इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर, प्रयोगशालाओं आदि की उच्‍च स्‍तरीय सुविधाएं उपलब्‍ध करायी जा रही है। उन्होंने बताया कि  हरकोर्ट बटलर प्राविधिक विश्‍वविद्यालय (एच0बी0टी0यू0) कानपुर में एसोसिएट प्रोफेसर/असिस्‍टेन्‍ट प्रोफेसर एव प्रोफेसर के 40 पदों पर भर्ती की कार्यवाही पूर्ण कर ली गयी है। उक्‍त के अतिरिक्‍त राजकीय पालीटेक्निकों में विभिन्‍न विषय/विभागों के 33 प्रवक्‍ताओं एवं समूह-ग के 73 पदों पर नियुक्ति/भर्ती की प्रक्रिया पूर्ण कर ली गयी है।  डिग्री सेक्टर में ट्रेनिंग एवं प्‍लेसमेन्‍ट सेल द्वारा प्लेसमेंट ड्राइव के माध्यम से 5321 तथा डिप्लोमा सेक्टर में 6862 विद्यार्थियों को रोजगार के अवसर प्रदान किये गये है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर