ओएनडीसी और सिडबी ने छोटे उद्योगों के लिए ई-कॉमर्स में तेजी लाने हेतु समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए


 


भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) के साथ साझेदारी में ओपन नेटवर्क फॉर डिजिटल कॉमर्स (ओएनडीसी) का लक्ष्य छोटे उद्योगों की भागीदारी को लोकतांत्रिक बनाना और उसमें तेजी लाना है।

लखनऊ 8 अगस्त, 2022: ओएनडीसी, जो देश के ई-कॉमर्स पारितंत्र को लोकतांत्रिक बनाने का अपनी तरह का पहला प्रयास है, जबकि स‍िडबी, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) क्षेत्र के संवर्द्धन, वित्तपोषण और विकास के लिए तथा इसी तरह की गतिविधियों में रत अन्‍य संस्थाओं के कार्यों में  समन्वय के लिए, संसद के अधिनियम के तहत स्थापित एक प्रमुख वित्तीय संस्था है। ओनडीसी ने स‍िडबी के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं। इस साझेदारी का उद्देश्य छोटे उद्योगों को ओएनडीसी नेटवर्क में लाकर उनकी भागीदारी में तेजी लाना और इसके ज़रिए उनके परिदृश्य को बदलना है।
 
ओएनडीसी और सिडबी का यह पारस्परिक सहयोग, सिडबी के नेटवर्क में आने वाले सदस्यों के लिए एक कार्यमूलक दृष्टिकोण निर्मित करेगा, जिसके अंतर्गत सर्वप्रथम उन्हें ओएनडीसी के बारे में शिक्षित करने के लिए सत्र आयोजित किए जाएंगे। तत्पश्चात् ओएनडीसी प्रोटोकॉल और एमवीपी परिभाषा पर मास्टरक्लास  सत्र होंगे। इसके बाद प्रोत्‍साहनपरक त्वरक कार्यक्रम होंगे। अंत में प्रतिभागी अपने पारितंत्र में सक्रिय होकर लेनदेन करने में सक्षम हो पाएँगे।
 
इस समझौता ज्ञापन पर सिडबी के अध्‍यक्ष एवं प्रबंध न‍िदेशक श्री सिवसुब्रमणियन रमण और ओएनडीसी के प्रबंध न‍िदेशक व मुख्‍य कार्यपालक अधिकारी श्री टी कोशी ने हस्ताक्षर किए। इसमें सिडबी और ओएनडीसी के कई सहयोगपरक प्रयासों का प्रावधान है, जिससे एमएसएमई को ओएनडीसी द्वारा प्रस्तावित ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म तक पहुँचने में मदद मिलेगी।
टी. कोशी, प्रबंध न‍िदेशक एवं मुख्‍य कार्यपालक अधिकारी, ओएनडीसी ने कहा, " इस समझौता-ज्ञापन के ज़रिए हम नेटवर्कों का  नेटवर्क  बना रहे हैं। इसके माध्यम से, हम सिडबी नेटवर्क को ओएनडीसी के साथ जोड़ेंगे, जिससे उनके छोटे उद्योगों के पारितंत्र में क्रांति आएगी। यह पहल एक ऐसी एक प्रेरक शक्ति होगी, जिससे देश भर के छोटे उद्योग बड़े पैमाने पर ई-कॉमर्स में भाग लेने लगेंगे, जिससे उनका विकास हो पाएगा।“
श्री एस. रमण, अध्‍यक्ष एवं प्रबंध न‍िदेशक, सिडबी ने कहा, "सिडबी इस महत्वपूर्ण राष्ट्रीय पहल की सफलता सुनिश्चित करने के लिए बहुत उत्सुक है और ओएनडीसी के इस सहयोग-कार्यक्रम में वह देश के सभी प्रमुख एमएसएमई औद्योगिक समूहों के साथ अपने मज़बूत संबंधों का लाभ लेगा, जिसकी शुरुआत मोरबी, कोयंबटूर और लुधियाना से होगी। सिडबी, अन्य पक्षों के साथ-साथ अपनी उन भागीदार एजेंसियों के नेटवर्क को भी ओएनडीसी के साथ मिलकर काम करने में मदद करेगा,  जो अनौपचारिक उद्यमों की बाजार पहुंच बनाने के लिए ज़मीनी स्तर पर कार्यरत हैं। जिन तीन साझेदारों को ओएनडीसी से परिचित कराया जा रहा है, वे हैं अन्नपूर्णा फाइनेंस प्राइवेट लिमिटेड, एक्सेस लाइवलीहुड्स ग्रुप और “लूम्स ऑफ लद्दाख” नामक महिला सहकारी समिति।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !