समूहों की तिरंगा राखी बाजार में मचा रही धमाल




 


उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत गठित स्वयं सहायता समूहों को लगातार दिये जा रहे प्रोत्साहन व उत्साहवर्धन के बहुत ही सार्थकसकारात्मक व सराहनीय परिणाम निखर कर आ रहे हैं। आजादी के अमृत महोत्सव वर्ष पर स्वतन्त्रता सप्ताह व हर घर तिरंगा कार्यक्रम को सफल व सार्थक बनाने की दिशा मे उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य के कुशल दिशा निर्देशन में स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं द्वारा  लगभग डेढ़ करोड़ तिरंगे  झण्डे बनाने व वितरित  करने का अभूतपूर्व कार्य किया जा रहा है ,वहीं हर घर तिरंगा कार्यक्रम को सफल बनाने व रक्षाबंधन के पावन त्यौहार में चार चांद लगाने को आतुर स्वयं सहायता समूहों की हुनरमंद सखियों द्वारा तिरंगा राखीतिरंगा ब्रेसलेटतिरंगा बैज आदि भी बनाये जा रहे हैं। उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं द्वारा इस प्रकार की सामग्री को बनाकर जहां अपने स्वावलंबन का मार्ग प्रशस्त कर महिला सशक्तीकरण के सरकार के सार्थक प्रयासों में सक्रिय भागीदारी की जा रही हैवहीं नागरिकों के मन में राष्ट्रप्रेम की भावना जागृत करने व स्वतंत्रता के प्रतीकों के प्रति सम्मान का भाव जगाया जा रहा है।

उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि राष्ट्रीय महत्वराष्ट्रीय गौरव व राष्ट्रीय स्वाभिमान के प्रतीक हर घर तिरंगा कार्यक्रम को सफल बनाने में समूहों द्वारा तिरंगे झण्डे बनाकर जहां  देश व समाज के प्रति अपने सामाजिक दायित्वो का निर्वहन किया जा रहा हैवहीं  राष्ट्र प्रेम की भावना को बलवती बनाने का कार्य भी किया जा रहा है या यूं कहें कि राष्ट्रप्रेम की अलख जगाई जा रही है।इस कार्य में प्रदेश में 9361स्वयं सहायता समूहों की 37725 महिलाएं लगी हुयी हैं। उप मुख्यमंत्री ने कहा है कि हर घर तिरंगा कार्यक्रम के माध्यम से देश के अमर वीर शहीदों के त्यागबलिदानसाहस और  शौर्य की प्रेरक स्मृतियां तो ताजा होंगी हीसाथ ही भावी पीढ़ी को प्रेरणादायक संदेश भी मिलेगा। उपमुख्यमंत्री श्री मौर्य  ने स्वयं सहायता समूहों द्वारा किए जा रहे इस कार्य की सराहना भी की है।

राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन से प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत स्वयं सहायता समूहों द्वारा प्रदेश के  लगभग समस्त जनपदों में राखी निर्माण का कार्य अभियान के रूप में चलाया जा रहा हैजिसमें सघन रूप से जनपद देवरियासोनभद्र ,बाराबंकी सुल्तानपुरकानपुर देहातगोंडा ,अलीगढ़बागपतप्रयागराज ,लखनऊ ,गाजियाबाद ,मुरादाबादबरेली औरैया ,व अंबेडकर नगर आदि में लगभग 4000 समूह सदस्यों द्वारा लाखों राखियों का निर्माण किया जा रहा है। समूह द्वारा बनाई जा रही तिरंगा राखीतिरंगा ब्रेसलेटतिरंगा बैज आदि बाजारों के साथ-साथ अमेजॉन फ्लिपकार्ट एवं मीशो ऐप पर अधिक संख्या में बिक्री हो रही हैसाथ ही साथ गाजियाबाद जनपद में सूखे फूलों अनाजों एवं ड्राई फ्रूट से बनी राखियां बेहद आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। जनपद बागपत में पिछले वर्ष समूह सदस्यों ने लगभग 50 लाख रुपए से अधिक की राखी का निर्माण किया थावही राज्य स्तर पर  पिछले वर्ष  लगभग रू करोड़ से अधिक की राखी निर्माण का कार्य हुआ था। इस वर्ष भी करोड़ से अधिक की राखी का व्यापार समूहों द्वारा किए जाने की संभावना है।जनपदों में प्रशासन द्वारा बिक्री करने वाले समूहों  द्वारा निर्मित राखियों की बिक्री सुनिश्चित कराने में अपेक्षित सहयोग दिया जा रहा है  वही पूर्व से ही ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर रजिस्टर समूह द्वारा अमेजॉन फ्लिपकार्ट एवं मीशो एप पर  राखियों की बिक्री की जा रही है।

मिष्ठान व्यापार में जुड़े समूहों द्वारा विभिन्न प्रकार की मिठाइयां एवं त्यौहार से संबंधित व्यंजन भी तैयार करके बाजारों में बिक्री किए जा रहे हैं। पूजा सामग्री से जुड़े समूह विशेष रुप से राखी थाली चुनरीधूप ,अगरबत्ती ,रोलीकुमकुम चंदन आदि का निर्माण करते हुए बाजारों में बिक्री किए जा रहे हैं।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !