मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 12वीं राज्य स्तरीय डाक टिकट प्रदर्शनी 'यूफिलेक्स–2022' का किया उदघाटन

 



 

डाक टिकट अतीत को वर्तमान से जोड़ते हैं – मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ


 

यूफिलेक्स-2022 में मुख्यमंत्री ने श्री राम वन गमन पथ पर जारी किए 14 विशेष आवरण

 

युवाओं के लिए डाक टिकट संग्रह एक शौक के साथ-साथ ज्ञानवर्धन का भी सशक्त माध्यम - मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

 

 

आजादी के अमृत महोत्सव के क्रम में डाक विभाग द्वारा ललित कला अकादमी, अलीगंज, लखनऊ में आयोजित 12वीं राज्य स्तरीय डाक टिकट प्रदर्शनी 'यूफिलेक्स–2022' का उदघाटन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ द्वारा किया गया। दीप प्रज्वलन कर और फीता काटकर उन्होंने इसका उदघाटन किया और तत्पश्चात 304 फ्रेमों में आयोजित डाक टिकट प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस अवसर पर प्रदर्शित किए गए टिकटों के बारे में मुख्यमंत्री को उत्तर प्रदेश परिमंडल के चीफ पोस्ट मास्टर जनरल श्री कौशलेंद्र कुमार सिन्हा और वरिष्ठ ज्यूरी सदस्य श्री प्रशांत एच. पांड्या ने जानकारी दी। इस अवसर पर 'श्रीराम वन गमन पथ' पर 14 विशेष आवरण व विरूपण का एक विशेष सेट एवं डेफिनिटिव स्टाम्प थीम पैक का विमोचन भी मुख्यमंत्री द्वारा किया गया। श्री राम वन गमन से संबंधित यह सभी 14 स्थान उत्तर प्रदेश से संबंधित हैं - अयोध्या, तमसा नदी तट, सूर्य कुण्ड (सभी अयोध्या), सीता कुण्ड (सुल्तानपुर), देव घाट (प्रतापगढ़), श्रृंगवेरपुर, राम जोईटा, महर्षि भारद्वाज आश्रम, अक्षयवट (सभी प्रयागराज), सीता पहाड़ी, महर्षि वाल्मीकि आश्रम, कामदगिरि, रामशैय्या, रामघाट (सभी चित्रकूट)।

 

मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने अपने संबोधन में कहा कि डाक सेवाओं का एक समृद्ध इतिहास रहा है। डाक टिकट अतीत को वर्तमान से जोड़ते है। देश और प्रदेश के समृद्ध व गौरवशाली इतिहास से परिचय कराने में डाक टिकटों का अहम स्थान है। युवा पीढ़ी और विद्यार्थियों के लिए डाक टिकट संग्रह एक शौक के साथ-साथ ज्ञानवर्धन का भी सशक्त माध्यम है।

 

मुख्यमंत्री ने श्री राम वन गमन पर जारी विशेष आवरण की सराहना करते हुए कहा कि भारत की समृद्धि, संस्कृति एवं विरासत में उत्तर प्रदेश का अहम योगदान है, वहीं स्वतंत्रता संग्राम में भी उत्तर प्रदेश ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। डाक टिकटों और विशेष आवरण के माध्यम से डाक विभाग द्वारा इन सभी विषयों को सहेजते हुए आगामी पीढ़ियों से जोड़ा जा रहा है।

 

उत्तर प्रदेश परिमण्डल के चीफ पोस्टमास्टर जनरल श्री कौशलेन्द्र कुमार सिन्हा ने अध्यक्षता करते हुए कहा कि डाक विभाग फिलेटली को प्रोत्साहित करने हेतु तमाम कदम उठा रहा है। फिलेटली को एक हॉबी के रूप में अपनाने की जरूरत है। इससे युवा जहां मोबाइल की लत से बच सकेंगे, वहीं डाक टिकटों के माध्यम से तमाम जानकारियां प्राप्त कर ज्ञान में रचनात्मक अभिवृद्धि कर सकेंगे।


 

इस अवसर पर विधायक डा. नीरज बोरा, श्री अमरेश कुमार और श्रीमती जय देवी, ज्यूरी सदस्य श्री प्रशांत एच. पांड्या, पोस्टमास्टर जनरल कर्नल एस.एफ.एच रिजवी भी मंचासीन रहे। स्वागत भाषण पोस्टमास्टर जनरल लखनऊ क्षेत्र श्री विवेक दक्ष और आभार ज्ञापन पोस्टमास्टर जनरल वाराणसी क्षेत्र श्री कृष्ण कुमार यादव ने किया। संचालन योगेश मिश्र व अखंड प्रताप सिंह ने किया ।

 

प्रदर्शनी के दौरान स्कूली विद्यार्थियों हेतु फिलेटली वर्कशॉप, क्विज, स्टैंप डिजाइन प्रतियोगिता और अन्य फिलेटलिक गेम्स का आयोजन किया गया। माई स्टैंप काउंटर भी लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र रहा।

 

इस अवसर पर पुलिस महानिदेशक (प्रशिक्षण) श्री आर.पी सिंह,  पोस्टमास्टर जनरल कानपुर क्षेत्र श्री एस. एफ. एच रिजवी, पोस्टमास्टर जनरल बरेली क्षेत्र श्री संजय सिंह, पोस्टमास्टर जनरल वाराणसी क्षेत्र श्री कृष्ण कुमार यादव, पोस्टमास्टर जनरल आगरा क्षेत्र श्री राजीव उमराव, पोस्टमास्टर जनरल लखनऊ क्षेत्र श्री विवेक कुमार दक्ष, अध्यक्ष उ. प्र. पुलिस आवास निगम लि. श्री प्रकाश डी., निदेशक डाक सेवाएँ श्री सुनील राय, श्री गौरव श्रीवास्तव, श्री बी.बी. शरण सहित तमाम वरिष्ठ अधिकारी, कर्मचारी, डाक टिकट संग्राहक और विभिन्न विद्यालयों के विद्यार्थी मौजूद रहे।

 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर