एलपीजीसीएल टेक्नोलॉजिकल इनोवेशन के लिए प्रिज्म-२०२२ में सम्मानित


 एलपीजीसीएल के श्री सोहन पाल (बांए) और श्री आलोक श्रीवास्तव (दाएं) ट्रॉफी व प्रशस्ति पत्र के साथ।

कंपनी के स्वनिर्मित पोंटून-बेस्ड ड्रेजिंग डेक को मिला तृतीय पुरस्कार  


ललितपुर, २१ नवंबर २०२२: बजाज एनर्जी की ललितपुर पावर जनरेशन कंपनी लिमिटेड (एलपीजीसीएल) को डॉ. प्रीतम सिंह फाउंडेशन व आईआईएम-नागपुर द्वारा आयोजित 'प्रिज्म-२०२२' कार्यक्रम के दौरान उसके ‘पोंटून-बेस्ड ड्रेजिंग डेक फॉर ऐश वाटर रिकवरी पॉन्ड’ के अभिनव प्रयोग के लिए पुरस्कृत किया गया है।

एलपीजीसीएल ने एक दर्जन से अधिक अन्य प्रविष्टियों को पछाड़ते हुए 'इमर्जिंग लीडर्स कम्पटीशन' में तृतीय स्थान प्राप्त किया। १९ नवंबर २०२२ को आईआईएम-नागपुर में आयोजित पुरस्कार समारोह में श्री आलोक श्रीवास्तव, सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, मैकेनिकल मेंटेनेंस और श्री सोहन पाल, डीजीएम, एएचपी मेंटेनेंस ने एलपीजीसीएल की ओर से ट्रॉफी, प्रशस्ति पत्र और २५ हज़ार रुपये का नकद पुरस्कार   प्राप्त किया।

पूर्णतः स्वनिर्मित, एलपीजीसीएल का पोंटून-बेस्ड ड्रेजिंग डेक ऐश स्लरी को निकालने और रिकवरी पॉन्ड को साफ रखने में अत्यंत कारगर है। स्क्रैप और दूसरी काम में न आनेवाली सामग्री से निर्मित पोंटून-बेस्ड डेक को रिकवरी पॉन्ड में डेरिक व्यवस्था से कहीं भी स्थापित किया जा सकता और तलछटी से स्लरी को निकला जा सकता है। इस अनूठी तकनीक से एलपीजीसीएल ने न केवल अपने सीमित डाइक स्पेस की चुनौती का समाधान किया है बल्कि रिकवरी पॉन्ड की बफर स्टोरेज क्षमता का बेहतर उपयोग भी किया है।

इस पोंटून-बेस्ड ड्रेजिंग डेक की बदौलत एलपीजीसीएल प्रति वर्ष लगभग ३५ लाख रुपये बचा सकता है। 

इस प्रतिष्ठित सम्मान के लिए एलपीजीसीएल की टीम को बधाई देते हुए सीईओ, श्री ए.एन. सार ने कहा, “एलपीजीसीएल में हम निरंतर सुधार और इनोवेशन को सफलता की कुंजी मानते हैं और परिचालन उत्कृष्टता और लॉन्ग-टर्म सस्टेनेबिलिटी के लिए लगातार अभिनव प्रयोगों और प्रभावी समाधानों के लिए प्रयासरत रहते हैं। हमारे द्वारा निर्मित पोन्टून-बेस्ड ड्रेजिंग सिस्टम हमारी इसी कार्यकुशलता का एक उत्कृष्ट उदाहरण है।''

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर