खेल हमेशा खेल भावना से खेलना चाहिए:संदीप सिंह

 


डा. रज्मी यूनुस मेमोरियल अन्तर विद्यालयी टूर्नामेन्ट सम्पन्न 


लखनऊ।लामार्टिनियर कॉलेज ने डा. रज्मी यूनुस मेमोरियल अन्तर विद्यालयी क्रिकेट टूर्नामेन्ट की ट्राफी इरम पब्लिक कॉलेज को छः विकेट से पराजित कर हासिल की।आज के. डी. सिंह बाबू स्टेडियम में फाइनल मुकाबला लामार्टिनियर कॉलेज एवं इरम पब्लिक कॉलेज के बीच खेला गया। मैच का प्रारम्भ आमन्त्रित अतिथि श्री प्रकाश डी. (आई. पी. एस.). अतरिक्त पुलिस महानिदेशक ने किया एवं प्रतिभागी टीमों को शुभकामनाऐं दीं।वहीं टूर्नामेन्ट के पुरस्कार वितरण समारोह में मुख्य अतिथि श्री संदीप सिंह राज्यमंत्री( स्वतन्त्र प्रभार) बेसिक शिक्षा, उ.प्र. सरकार ने अपने संबोधन में कहा कि खेल हमेशा खेल भावना।से खेलना चाहिए, सफलता के लिए कठोर परिश्रम जरूरी है सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता है।इरम एजूकेशनल सोसाइटी के प्रबन्धन से आवाहन किया कि इसी प्रकार बालिकाओं का भी टूर्नामेन्ट आयोजित करें। इससे पहले इरम एजूकेशनल सोसाइटी के प्रबन्धक डा. ख्वाजा बज्मी यूनुस, डायरेक्टर ख्वाजा फैजी यूनुस एवं सचिव ख्वाजा सैफी यूनुस ने मुख्य अतिथि का स्वागत पुष्पगुच्छ, स्मृति चिन्ह और अंगवस्त्र देकर किया।

श्री सैफी यूनुस ने अपने संबोधन में इरम एजूकेशनल सोसाइटी के क्रिया कलापों एवं टूर्नामेन्ट के बारे में विस्तार से बताया।फाइनल मुकाबले में लामार्टिनियर कॉलेज ने टॉस जीत कर पहले फील्डिंग ली। इरम कॉलेज ने पहले बैटिंग कर आठ विकेट खोकर 94 रनों का लक्ष्य दिया जिसे लामार्टिनियर कॉलेज ने 4 विकेट खोकर 12.2 ओवर में प्राप्त कर विजेता ट्राफी अपने नाम की मैन ऑफ दी सीरीज़ रिषी आर्यन, बेस्ट बैट्स मैन व्योम गुप्ता, बेस्ट गेंदबाज़ फैसल सिद्दीकी को घोषित किया गया। वहीं दोनों टीमों के कोच आशीष मिश्रा, राजेश त्रिपाठी, मो.आदिल, एकता खरे, मो. रियाज़,अम्पायर, स्कोरर एवं मीडिया कर्मियों को भी ट्राफी देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन सुश्री आयशा अली ने प्रधानाचार्या श्रीमती सहर सुल्तान के निर्देशन में किया।फाइनल मुकाबले में विभिन्न कॉलेजो के प्रधानाचार्य एवं शिक्षक शिक्षिकाऐं तथा बड़ी तादाद में छात्र एवं छात्राएं उपस्थित थे। यह जानकारी टूर्नामेन्ट के आयोजक सचिव श्री राजेश त्रिपाठी ने दी।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर