घना कोहरा होने पर होगा बसों का ठहराव चिन्हित स्थानों पर कोहरा छटने के बाद ही होगा पुनः संचालन -एम0डी0 परिवहन निगम

लखनऊ: 20 दिसम्बर, 2022 उत्तर प्रदेश परिवहन निगम ने कोहरे के दृष्टिगत बसांे के संचालन में महत्वपूर्ण बदलाव करने का निर्णय लिया है। कोहरे के कारण हो रही दुर्घटनाओं को देखते हुए निर्णय लिया गया है कि यदि मार्ग पर कोहरा पाया जायेगा तो बसों को मार्ग में पड़ने वाले बस स्टेशनों, ढाबा, थाना, पेट्रोल पम्प, टोल प्लाजा पर कोहरा कम होने तक खड़ी कर दी जायेगी। इसका निर्णय क्षेत्रीय प्रबंधक स्थानीय स्थिति के अनुसार करेंगे। रात्रि 08ः00 बजे से प्रातः 08ः बजे तक अथवा कोहरा छटने के बाद ही बसों का संचालन पुनः किया जायेगा। लगभग एक माह तक कोहरे के दृष्टिगत बसों की ऑनलाइन बुकिंग भी बंद कर दी गयी है। परिवहन मंत्री के निर्देश मिलने के उपरांत परिवहन निगम मुख्यालय में समीक्षा बैठक के दौरान उक्त निर्णय लिया गया है। यह सुनिश्चित कराने के लिए क्षेत्रीय/सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक रात्रि 08ः00 बजे से रात्रि 12ः00 बजे तक बस स्टेशनों पर कैम्प करेंगे तथा यात्रियों एवं चालक/परिचालक हेतु स्टेशनों पर ठहरने, अलाव, शौचालय, साफ-सफाई, सुरक्षा के चाक-चौबंद उपाय उपलब्ध कराएंगे। बस स्टेशनों पर स्थित कैन्टीन, स्टाल रात-दिन खुले रहेंगे। ब्रेथ एनेलाइजर से चालकों की मादक पदार्थों के सेवन की जांच भी की जायेगी। इस सम्बंध में एम0डी0 परिवहन निगम द्वारा सभी क्षेत्रीय/सहायक क्षेत्रीय प्रबंधकों को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किये गये हैं। प्रबंध निदेशक ने बताया कि बसांे का संचालन पूर्व नियोजित ढंग से रात्रि में बंद किया जायेगा, जिससे किसी स्टेशन पर अत्यधिक बसें इकट्ठी न हो तथा यात्रियों को असुविधा न हो। किसी भी परिस्थिति में कोहरे की स्थिति में निगम बसों का संचालन नहीं किया जायेगा। घने कोहरे के कारण बस दुर्घटना होने पर सम्पूर्ण उत्तरदायित्व सम्बंधित अधिकारी का होगा और सम्बंधित मार्ग के सभी बसों के चालकों/परिचालकों को इस सम्बंध में शीघ्र सूचना देने की कार्यवाही की जायेगी। इसी प्रकार निजी बसों की दुर्घटना की सूचना मिलने पर तत्काल सम्बंधित आरटीओ/एआरटीओ को इसकी सूचना देने साथ ही स्वयं भी मौके पर पहुंचें। उन्होंने बताया कि परिवहन मंत्री ने निर्देश दिये हैं कि यात्रियों की सुरक्षा हमारी शीर्ष प्राथमिकता है। पब्लिक एड्रेस सिस्टम से इसकी जानकारी यात्रियों, चालकों/परिचालकों को दी जायेगी।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर