ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2023 के पहले उत्तर प्रदेश आएगा नीदरलैंड का प्रतिनिधिमंडल




लखनऊः 16 दिसम्बर, 2022

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने उच्च शिक्षा एवं आईटी मंत्री श्री योगेंद्र उपाध्याय के साथ व प्रतिनिधिमंडल के साथ उत्तर प्रदेश ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2023 में प्रतिभाग करने व उत्तर प्रदेश में निवेश करने के संबंध में नीदरलैंड सरकार के साथ आज द्विपक्षीय वार्ता की। उन्होंने नीदरलैंड के भारत के साथ फारेन इकोनामिक रिलेशन को और अधिक मजबूत करने की आवश्यकता पर बल दिया। द्विपक्षी वार्ता में उपमुख्यमंत्री ने उत्तर प्रदेश में कृषि, खाद्य प्रसंस्करण और डेयरी व अन्य  क्षेत्रों में निवेश की अपार संभावनाओं व सरकार द्वारा निवेश के लिए उत्तर प्रदेश के उचित माहौल व अन्य विशिष्ट विशेषताओं की जानकारी दी और इन क्षेत्रों में निवेश के लिए सहयोग व साझेदारी के लिए आमंत्रित किया। उपमुख्यमंत्री ने वार्ता के दौरान कहा कि उत्तर प्रदेश भौगोलिक एवं सांस्कृतिक विविधताओं से समृद्ध प्रदेश है ।खाद्य प्रसंस्करण कृषि और उद्योग के बीच की कड़ी है। भारत में खाद्य प्रसंस्करण उत्पाद का लगभग 10 प्रतिशत फलों एवं सब्जियों के लिए न्यूनतम 2 प्रतिशत एवं दुग्ध के लिए अधिकतम 35 प्रतिशत से अधिक है। उत्तर प्रदेश में खाद्य प्रसंस्करण पर तृतीय स्तर 6प्रतिशत है। प्रदेश में खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में आईटी सेक्टर के बाद सबसे ज्यादा रोजगार की संभावनाएं भी विद्यमान है। इन उद्योगों के विकास से न केवल खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र का विकास होगा बल्कि अन्य संबंधित उद्योगों एवं सेवा क्षेत्र का भी विकास होता है। फलों एवं सब्जियों का खाद्य प्रसंस्करण स्तर को बढ़ाने की नितांत आवश्यकता है। जिससे प्रदेश से अधिकाधिक निर्यात स्तर के उत्पाद तैयार कराकर निर्यात कराया जा सकता है।
बताया गया कि उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य , उच्च शिक्षा एवं आईटी मंत्री श्री योगेंद्र उपाध्याय की पहल और अनुरोध पर उत्तर प्रदेश में ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2023 से पहले नीदरलैंड अपनी सरकार के प्रतिनिधिमंडल को उत्तरप्रदेश भेजने की सहमति दीऔर यहां पर निवेश की संभावनाओं को तलाशा जाएगा तथा निवेश की परियोजनाओं की योजना बनाने के लिए प्रतिनिधिमंडल यहां का भ्रमण करेगा और उसके बाद आयोजित होने वाली समिति में भी भाग लेगा ।

उप मुख्यमंत्री  द्वारा प्रतिनिधिमंडल के साथ सिग्नीफाई लाइटिंग एप्लीकेशन सेंटर आइंहोवन का भी दौरा किया गया और प्रकाश व्यवस्था अनुप्रयोग के क्षेत्र में यूपी  मे निवेश के लिए सिग्नीफाई कंपनी को समिट में प्रतिभाग करने के लिए आमंत्रित किया गया। उन्होंने प्रतिनिधिमंडल के साथ वर्ल्ड हार्टीसेन्टर का भ्रमण किया और सेन्टर के व्यवसाय विकास निदेशक श्री देश रामनाथ से भेंट कर निवेश के सम्बन्ध में वार्ता की।प्रतिनिधि मंडल में साथ गये प्रमुख सचिव नितिन रमेश गोकर्ण  ने बातचीत में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की।

 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर