डॉ. इंदिरा दांगी को मिला गायत्री कथा सम्मान

पाथेय साहित्य कला अकादमी का 27 को सम्मान समारोह भोपाल/जबलपुर। पाथेय साहित्य कला अकादमी जबलपुर द्वारा जानीमानी कथाकारा डॉ. इंदिरा दांगी को छठवें गायत्री कथा सम्मान देने की घोषणा सोमवार को हुई। महासचिव राजेश पाठक प्रवीण ने बताया कि रानी दुर्गावती संग्रहालय सभागार में 27 दिसंबर को दोपहर 3 बजे से यह कार्यक्रम होगा। इसमें इंदिरा को शाल-श्रीफल के साथ 11 हजार रुपए सम्मान निधि भेंट कर सम्मानित किया जाएगा। डॉ. दांगी की चर्चित रचनाओं में कथा संग्रह बारहसिंघा का भूत, उपन्यास आचार्य नाटक, रपटीले राजपथ, शुक्रिया इमरान साहब, एक सौ पचास प्रेमिकाएं, नाटक रानी कमलापति व राई आदि शामिल हैं। इंदिरा दांगी को भारतीय ज्ञानपीठ का नवलेखन अनुशंसा पुरस्कार 2014, दिल्ली सरकार द्वारा मोहन राकेश नाट्य अनुशंसा पुरस्कार सहित्य अकादमी द्वारा 2015 में युवा पुरस्कार, हिंदी साहित्य सम्मेलन ने 2013 में वागीश्वरी सम्मान, कलमकार पुरस्कार 2014, दुष्यंत कुमार स्मृति पुरस्कार 2015 से सम्मानित किया जा चुका है। आपके नाटक राई का मंचन अमेरिका में भी कई बार हो चुका है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर