विज्ञान और प्रौद्योगिकी आज के समाज का सबसे महत्वपूर्ण अंग आज का युग टेक्नॉलाजी का युग है -श्री जेपीएस राठौर

लखनऊ: 27 दिसम्बर, 2022 विज्ञान और प्रौद्योगिकी आज के समाज का सबसे महत्वपूर्ण अंग है। ऐसा पहली बार है कि प्रदेश में सहकारिता के क्षेत्र में विज्ञान एवम तकनीक पर आधारित एक सहकारी समिति की शुरुआत हुई है। पिछले कुछ वर्षों में सहकारी संस्थाओं में युवाओं कि रुचि में कुछ कमी देखने को मिली है। लेकिन आज देश के सर्वाेच्च संस्थान जैसे आईआईटी, एनआईटी, आईआईएससी बंग्लौर तथा इम्पीरियल कालेज लंदन इत्यादि में पढे इंजीनियर्स ने सहकारिता में अपना कदम रखा है। यह बातें प्रदेश के सहकारिता राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री जे.पी.एस.राठौर ने आज गोमती नगर स्थित ताज होटल में साईंस एण्ड टेक्नालाजीस सहकारी समिति के उदघाटन समारोह के अवसर पर कही। उन्होंने साईंस एण्ड टेक्नालाजीस सहकारी समिति की फाउण्डर टीम को बधाई दी और सफल भविष्य कि कामना की। श्री राठौर द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर समिति का उद्घाटन किया गया। उन्होंने कहा कि आज का युग टेक्नॉलाजी का है और प्रदेश में यह पहला अवसर है जब विज्ञान एवं तकनीक पर आधारित एक सहकारी समिति कि शुरुआत हुई है। इस समिति के गठन के पश्चात कई दुरूह कार्य आसानी से किये जा सकेंगे। सहकारिता मंत्री ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के कुशल नेतृत्व में प्रदेश सहकारिता के क्षेत्र मे लगातार अग्रणी रहा है। इसी क्रम में आज सहकारिता को आगे बढाने के लिये संस्थाओ में ऊर्जावान युवा एवं विज्ञान और तकनीक को बढावा देने उद्देश्य से श्री संकल्प द्वारा साईंस एण्ड टेक्नालाजीस सहकारी समिति की स्थापना कि गयी है, जिससे सहकारिता के क्षेत्र में नई क्रांति आयेगी। इस अवसर पर श्री संकल्प ने बताया कि समिति में सभी प्रकार की सुविधाओं को सुचारू ढंग से निष्पादित करने के लिये सभी क्षेत्र के विषय विशेषज्ञ उपलब्ध हैं। इस संस्था का उद्देश्य सहकारिता के क्षेत्र में विज्ञान और प्रौद्यिगिकी को बढ़ावा देना है। समिति विभिन्न प्रकार की सरकारी और गैर सरकारी संस्थाओं को साफ़्टवेयर,वेबसाईट,मोबाईल अप्लीकेशन, इवेंट मैनेजमेंट, सोशल मीडिया मार्केटिंग, स्टार्टअप मेंटरिंग आदि जैसी सुविधाए प्राप्त कराने के लिये कार्यरत है। समिति के फाउण्डर सदस्यों ने पूर्व मंे आई.सी.ए.आई. और अन्य कई बड़ी संस्थाओं के साथ सोशल मीडिया एवं इवेंट मैनेजमेंट के क्षेत्र मे कार्य किया है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की सोच जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान, जय अनुसंधान को सार्थक करने के लिये साईंस एण्ड टेक्नालाजीस सहकारी समिति सहकारिता क्षेत्र और आज के समय के श्रम दक्षता शास्त्र के बीच में एक सामंजस्य बनाने कि ओर प्रतिबद्ध है। इस अवसर पर अपर आयुक्त एवं अपर निबंधक (बैंकिंग) श्रीमती बी.चंद्रकला, विशेष सचिव सहकारिता श्री अच्छेलाल यादव, सलाहकार श्री पी.के.अग्रवाल एवं समस्त शीर्ष सहकारी संस्थानो के प्रबंध निदेशक मौजूद रहें।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर