प्रधानमंत्री जी ’’खेलो इंडिया’’ थीम के साथ खेलों के विकास के लिए सराहनीय कार्य कर रहे -योगेन्द्र उपाध्याय

सरकार खेलों को प्रोत्साहन दे रही अब समाज को भी आगे बढ़कर सहयोग करना होगा
सरकार व समाज दोनों के सहयोग से होगा खेलों का समुचित विकास
उच्च शिक्षा मंत्री ने किया ’’नवोत्कर्ष-2022’’ कार्यक्रम का शुभारम्भ
लखनऊ: 24 दिसम्बर, 2022 प्रदेश के उच्च शिक्षा विज्ञान प्रौद्योगिकी इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री श्री योगेन्द्र उपाध्याय ने कहा है कि खेलों के प्रोत्साहन से समाज सजग एवं सशक्त बनेगा। उन्होंने कहा कि सरकार खेलों को प्रोत्साहन दे रही है, अब समाज को भी आगे बढ़कर सहयोग करना होगा क्योकि समाज और सरकार दोनों के सहयोग से ही खेलों को समुचित प्रोत्साहन मिल सकेगा। श्री उपाध्याय आज आलमबाग स्थित आर0डी0एस0ओ0 स्टेडियम में कृष्णा देवी गर्ल्स डिग्री कालेज के वार्षिक खेलकूद मिलन समारोह ’’नवोत्कर्ष-2022’’ में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। उन्होंने विवेकानन्द के एक कथन कि ’’शक्तिशाली भारत का निर्माण खेल के मैदानों से होगा’’ को कोट करते हुए कहा कि खेलों का महत्व हमेशा रहा है, हमारे शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य के लिए खेल बहुत जरूरी है। इसी को ध्यान में रखते हुए हमारे प्रधानमंत्री मोदी जी ’’खेलो इंडिया’’ और ’’बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ’’ की थीम के साथ खेल एवं नारी सशक्तिकरण के लिए सराहनीय कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि समाज को अब खेलों को लेकर सकारात्मक सोच रखना होगा क्योंकि ख्ेाल की प्रतिभाए भी ऊचाई तक जाती है। सचिन तेन्दुलकर और विराट कोहल जैसी प्रतिभाए खेल के मैदानों से ही प्राप्त हुई हैं। श्री उपाध्याय ने कहा कि आज का परिवेश दिनों-दिन प्रतिस्पर्धी होता जा रहा है ऐसे में खेल युवाओं को शिक्षा व कैरियर में आने वाली चुनौतियों से निपटने में भी सहायता करता है। खेल मानसिक तनाव को दूर कर व शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि कर स्वस्थ जीवन जीने में सहायता करता है। इसलिए सभी युवा पूरे मनोयोग से शिक्षा ग्रहण करने के साथ-साथ खेलने पर ध्यान दें। इस अवसर पर छात्राओं द्वारा विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं व कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया तथा विभिन्न विधा में उत्कृष्ट कार्य करने वाली व विजेता छात्राओं को उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा प्रशस्ति पत्र दिया गया। कार्यक्रम में कृष्णा देवी गर्ल्स कालेज की प्राचार्य श्रीमती सारिका दूबे, द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित श्री गौरव खन्ना, साई के उपनिदेशक डा0 शम्भूशरण प्रसाद सहित विभिन्न कालेजों के प्राचार्यगण, शिक्षणगण व छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर