बीज, निर्यात और जैविक उत्पाद के लिए बहुराज्य सहकारी समितियों का गठन दूरगामी कदम'- डॉ. प्रवीण सिंह जादौन

सहकार भरती उत्तर प्रदेश के महामंत्री डॉ.प्रवीण सिंह जादौन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सहकारिता मंत्री अमित शाह का जताया आभार
लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता और केंद्रीय सहकारिता मंत्री अमित शाह की अगुवाई में केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा 11 जनवरी को बीज, निर्यात और जैविक उत्पाद के लिए तीन राष्ट्रीय स्तर की बहुराज्य सहकारी समितियों के गठन की स्वीकृति प्रदान की है। इस महत्वपूर्ण निर्णय पर सहकार भारती, उत्तर प्रदेश ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय सहकारिता मंत्री अमित शाह का आभार जताया है। सहकार भरती के प्रदेश महामंत्री डॉ. प्रवीण सिंह जादौन ने गुरुवार को बताया कि जैविक सहकारिता जैविक उत्पादों के एकत्रीकरण, खरीद, ब्रांडिंग और विपणन के लिए एक छाता संगठन के रूप में कार्य करेगी। बीज सहकारिता उपज अंतराल को कम करने और उत्पादकता बढ़ाने में मदद करेगी। मल्टी-स्टेट कोऑपरेटिव सोसाइटी (एमएससीएस) अधिनियम, 2002 के तहत एक्सपोर्ट सोसायटी सहकारी समितियों के समावेशी विकास मॉडल के माध्यम से 'सहकार से समृद्धि' के लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद करेगी। उन्होंने बताया कि अब बहु राज्य सहकारी समितियां, राष्ट्रीय स्तर के सहकारी संघ और अन्य इसके सदस्य बन सकते हैं। मूल रूप से तीन नई सहकारी समितियां न केवल ‘सहकार से समृद्धि’ मंत्र को प्राप्त करने में मदद करेंगी, बल्कि किसानों की आय को दोगुना करने में भी मदद करेंगी। 'कृभको' पूर्व में ही बीज सहकारिता को आकार देने पर कार्यरत है। डॉ. जादौन ने बताया कि किसानों और सहकारिता क्षेत्र के लिए तीन महत्वपूर्ण उप समितियों के गठन का निर्णय लेने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय सहकारिता मंत्री अमित शाह और केंद्रीय मंत्रिमंडल का आभार व्यक्त करते हैं।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर