सुरेश बाबू मिश्रा विद्योत्मा साहित्य शिरोमणि सम्मान से सम्मानित

बरेली ,साहित्यकार साहित्य भूषण सुरेश बाबू मिश्रा को विद्योत्मा फॉउडेशन नासिक द्वारा इनके कहानी संग्रह “कैक्टस के जंगल” के लिए विद्योत्मा साहित्य शिरोमणि सम्मान से सम्मानित किया गया। नासिक महाराष्ट्र के होटल थीम प्लाज़ा के सभागार मे हुए एक भव्य समारोह में मुख्य अतिथि गोविन्द झा, विशिष्ट अतिथि कर्नल दीप चन्द्र, विद्योत्मा फॉउडेशन के अध्यक्ष सुबोध मिश्र एवं डा रोचना ने श्री मिश्र को 5100 रूपए की धनराशि, सम्मान पत्र, स्मृति चिह्न देकर तथा पगड़ी पहनाकर सम्मानित किया। इस समारोह में विद्योत्मा फाउंडेशन ने देश के सोलह साहित्यकारों को विभिन्न सम्मानों से सम्मानित किया। तीन सत्रो में चले इस साहित्य समागम में साहित्य को विविध आयामों पर चिन्तन एवं मंथन भी किया गया। समारोह की अध्यक्षता डॉ रोचना भारती ने की। संचालन विद्योत्मा फाउंडेशन के उपाध्यक्ष भरत सिंह तथा महासचिव डॉ सी पी मिश्र ने संयुक्त रूप से किया।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर