अयोध्या में लगभग 600 पेइंग गेस्ट का रजिस्ट्रेशन, 441 को दिया गया सर्टिफिकेट-जयवीर सिंह


 

लखनऊ: 17 जनवरी, 2024


अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर में प्रभु श्रीराम की प्राण प्रतिष्ठा के बाद दर्शन-पूजन के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु दूर-दराज से आने वाले लोगों की पहली जरूरत ठहरने की होगी। पर्यटन विभाग इस आवश्यकता को पूरा करने के लिए व्यापक स्तर पर तैयारियां कर रहा है। होटल, रिजार्ट के अलावा गांव से लेकर शहर तक बड़े पैमाने पर पेइंग गेस्ट तैयार किए जा रहे हैं। अब तक लगभग 600 पेइंग गेस्ट का रजिस्ट्रेशन हो चुका है, जिसमें 441 को सर्टिफिकेट जारी किया जा चुका है। इसमें लगभग 2,400 से 2,500 कमरों की व्यवस्था रहेगी। श्रद्धालु दिव्य अयोध्या एप के माध्यम से यहां बुकिंग कर सकते हैं।
यह जानकारी आज यहां प्रदेश के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्री जयवीर सिंह ने दी। उन्होंने बताया कि दिल्ली स्थित गैर-सरकारी संगठन फाउंडेशन फॉर इकोनॉमिक डेवलपमेंट और पर्यटन विभाग के समन्वय से पेइंग गेस्ट की संख्या बढ़ाई जा रही है। उचित दाम पर उच्च गुणवत्ता वाले रूम उपलब्ध कराए जा रहे हैं। इससे स्थानीय लोगों का आर्थिक विकास होगा और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। पेइंग गेस्ट संचालकों को पर्यटन विभाग द्वारा स्थानीय स्तर पर प्रशिक्षण और मार्गदर्शन दिया जाएगा।
पर्यटन मंत्री ने बताया कि प्रदेश सरकार मर्यादापुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की नगरी को विश्व की सुंदरतम नगरी के रूप में विकसित कर रही है। यहां लगातार पर्यटकों की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। 22 जनवरी 2024 को प्राण प्रतिष्ठा के बाद श्रद्धालुओं की संख्या में अप्रत्याशित वृद्धि के आसार हैं। प्रयास है कि यहां आने वाले प्रत्येक श्रद्धालु सुखद स्मृतियां लेकर लौटें। इस दृष्टिकोण से लगातार बड़े पैमाने पर ठहरने की व्यवस्था भी की जा रही है।
श्री जयवीर सिंह ने बताया कि अयोध्या में लगभग 600 पेइंग गेस्ट का रजिस्ट्रेशन हो चुका है। 441 को सर्टिफिकेट जारी किया जा चुका है। यहां ठहरने और घर के नाश्ते की अच्छी सुविधा उपलब्ध रहेगी। 1500 से 2500 रुपये किराए में रहने और नाश्ते की उत्तम सुविधा मिलेगी। लोगों को नाश्ते का कोई अलग चार्ज नहीं देना होगा। यह योजना घरेलू आगंतुक अनुभव विकसित करने के लिए प्रोत्साहित करती है। इस योजना की परिकल्पना अतुल्य भारत के अतिथि देवो भवः के तहत की गई है। अयोध्या में सामुदायिक किचन शुरू करने की भी तैयारी है। क्योंकि जो लोग पेइंग गेस्ट में ठहरेंगे उनके लिए भोजन की भी आवश्यकता होगी तो सामुदायिक किचन द्वारा यह जरूरत पूरी की जाएगी। सामुदायिक किचन खोलने के लिए प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।
पर्यटन मंत्री ने बताया कि उत्तर प्रदेश पर्यटन का ओयो के साथ भी एमओयू हुआ है। इसके तहत कंपनी यहां कमरे उपलब्ध करा रही है। अब तक ओयो के साथ 51 होम स्टे और 14 होटल जुड़ चुके हैं। होम स्टे के 709 और होटल्स के 266 रूम की उपलब्धता है। इस तरह ओयो कुल 975 रूम उपलब्ध करा रहा है। 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,