बुलंदशहर और मेरठ मंडल के लिए कई बड़ी परियोजनाओं की शुरुआत करेंगे पीएम मोदी




- मुख्यमंत्री ने अधिकारियों संग समीक्षा बैठक कर तैयारियों को लेकर दिए आवश्यक दिशा-निर्देश


बुलंदशहर, 20 जनवरी। आगामी 25 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावित बुलंदशहर दौरे को लेकर तैयारियां अंतिम चरण में हैं। शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यहां पुलिस शूटिंग रेंज ग्राउंड स्थित पीएम के कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण किया। सीएम ने इस दौरान प्रधानमंत्री द्वारा लोकार्पित और शिलान्यास की जाने वाली परियोजनाओं की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को दिशानिर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने प्रस्तावित जनसभा स्थल पर की जा रही तैयारियों के लिए जनप्रतिनिधियों, संगठन कार्यकर्ताओं तथा अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करते हुए निर्देशित किया कि जनसभा में प्रतिभाग करने वाली जनता को किसी भी प्रकार की कठिनाई का सामना ना करना पड़े। इसके लिए गुणवत्तापूर्ण व्यवस्था करने के उन्होंने निर्देश दिए और बैठक में उपस्थित मण्डल के अधिकारियों से कहा कि शासन द्वारा मंडल में चल रहे निर्माण कार्यों को शीघ्र गुणवत्तापूर्ण पूरा कराया जाए।


समीक्षा बैठक के उपरांत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मीडिया को इस संबंध में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 22 जनवरी को आयोध्या में प्रभु श्रीराम के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के बाद 25 जनवरी को प्रधानमंत्री एक बार फिर उत्तर प्रदेश में होंगे। पीएम मोदी बुलंदशहर और मेरठ मंडल के लिए हजारों करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करेंगे। उन्होंने बताया कि लोकार्पित होने वाली परियोजनाओं में बाबूजी कल्याण सिंह के नाम पर मेडिकल कॉलेज, डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के एक सेक्शन का लोकार्पण, अलीगढ़ से कन्नौज के बीच फोरलेन हाइवे सहित विभिन्न प्रोजेक्ट्स शामिल हैं। इसके साथ ही प्रधानमंत्री यहां कार्यकर्ताओं के साथ संवाद भी करेंगे। 


मुख्यमंत्री ने प्रस्तावित कार्यक्रम स्थल का स्थलीय निरीक्षण करते हुए व्यवस्थाओं के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। मुख्यमंत्री ने स्थलीय निरीक्षण करते हुए कार्यक्रम में आने वाली गाड़ियों की पार्किंग की व्यवस्था को देखा और पार्किंग को कार्यक्रम स्थल के समीप तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने कार्यक्रम स्थल पर कार्य करने वाले निर्माण श्रमिकों के बच्चों से मुलाकात कर उनसे संवाद किया और एक बच्चे से 2 का पहाड़ा भी सुना, उन्होंने बच्चे को टाफी देकर उसका हौंसला भी बढ़ाया।


इस दौरान केंद्रीय राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह के अलावा स्थानीय जनप्रतिनिधि और प्रदेश के प्रमुख सचिव गृह संजय प्रसाद मौजूद रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,