छोटे छोटे बच्चों को मिले भारी कम्बल, अम्मा की असीम अनुकम्पा.




दिल्ली /फरीदाबाद, अमृता हॉस्पिटल फ़रीदाबाद में पूज्य अम्मा की कृपा से चलने वाली अमृता पाठशाला के बच्चों को व दिल्लीमें वसंतकुंज स्थित अम्मा के आश्रम के आस पास रहने वाले 200 से भी अधिक परिवारों, बच्चों को गर्म कम्बल प्रदान किये गए.

  अमृता हॉस्पिटल के परिसर में चलने वाली श्रमिक बच्चों को पूज्य स्वामी विजयमृतानन्द पुरी जी, श्री गोपी जी व जे. एस. एन, की टीम ने 45 कम्बल दिए. बच्चों के आकर व भार से बड़े कम्बल भी बच्चे बड़े जतन से संभालकर ले रहे थे. पूज्य स्वामी जी ने अम्मा के भक्तों, दानदाताओं के प्रति आभार व्यक्त किया जिन्होंने इन नये ऊनी कम्बलो को प्रदान किया.


    वसंत कुंज आश्रम में पूज्य स्वामी निजामृतानन्द पुरी जी, स्वामी मोक्षमृतानन्द चैतन्य, स्वामी हर्षामृता चैतन्य व आश्रम के विशिष्ट भक्तों ने 150 से अधिक परिवारों को कम्बल प्रदान किये.

   स्वामी जी ने कहा पूज्य अम्मा यहाँ से 3000 किमी दूर रहकर भी अपने दिल्ली के बच्चों का इतना ध्यान रखतीं हैं, यह उनके मातृत्व, करुणा व सेवा के महान गुणों का एक प्रतीक है.


गर्म सुन्दर कम्बलों को पाकर हर चेहरे पर प्रसन्नता व आनंद की अनुभूति स्पष्ट दिखाई दे रही थी.

इस वर्ष में तीसरी बार बच्चों को उनी वस्त्र, कम्बल दिए गए. सभी लाभार्थीयों ने शब्दों से, मनोभावो से पूज्य अम्मा व स्वामीजियों के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित की.


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,