मनरेगा से प्रदेश के हर जिले में 75 मॉडल शॉप (अन्नपूर्णा भवन) बनाने का लक्ष्य


प्रदेश में अब तक 2072 राशन मॉडल शॉप का निर्माण कार्य प्रारंभ

उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य की पहल व निर्देशन मे मनरेगा के तहत गांवों में बन रहीं राशन की दुकानें

अन्नपूर्णा भवन के नाम से जानीं जायेगी, राशन की मॉडल दुकानें

लखनऊ : 17 फरवरी, 2024


उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य की पहल व उनके निर्देश पर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा योजना के अंतर्गत राशन मॉडल शॉप (अन्नपूर्णा भवन) का निर्माण कार्य जारी है। प्रदेश में अब तक 2,072 कार्य प्रारंभ कराये जा चुके हैं, जबकि इनमें से 39 राशन मॉडल शॉप (अन्नपूर्णा भवन) बनकर तैयार भी हो चुकी हैं।
सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत उचित दर दुकानों को लेकर बड़ा यह कार्य बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है। प्रदेश के सभी जिलों में राशन की 75 दुकानों को मॉडल शॉप (उचित दर दुकान एवं जन सुविधा केंद्र) के रूप में तब्दील किये जाने का कार्य प्रगति पर है। आजादी के अमृत काल में प्रत्येक जनपद में 75 उचित दर दुकानों को चिन्हित कर उसमें व्यापक परिवर्तन लाते हुए उन्हें राशन मॉडल शॉप (अन्नपूर्णा भवन) विकसित करने का कार्य किया जा रहा है। ग्राम पंचायतों में मनरेगा के तहत सरकारी जमीन पर इन मॉडल शॉप का निर्माण कार्य जारी है। ग्रामीण क्षेत्रों में यह भवन मनरेगा योजना के अंतर्गत बनाए जा रहे हैं। इस भवन को पूर्ति विभाग के मानकों के आधार पर तैयार किया जा रहा है। इसमें एक हॉल, एक प्रतीक्षालय के साथ साथ जनसेवा केंद्र संचालन की व्यवस्था की जा रही है।
उचित दर विक्रेताओं की दुकानें कहीं-कहीं संकरी गलियों में होने के कारण खाद्यान्न वाहन और आम जनमानस को दुकान तक पहुंचने में कठिनाई का सामना करना पड़ता था। उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य के इस दूरगामी सोच से ग्राम सभाओं में अब मॉडल शॉप (अन्नपूर्णा भवन) के विकसित होने से खाद्यान्न वाहन और आम जनमानस की पहुंच आसान होने जा रही है
ग्राम्य विकास विभाग द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार उचित दर दुकानों की व्यवहार्यता बढ़ाने के लिए राज्य सरकार द्वारा उचित दर दुकानों के माध्यम से विद्युत देयकों का भुगतान, सी.एस.सी सेवाएं, पी.एम वाणी के अंतर्गत ब्रॉडबैंड सेवा उपलब्ध कराने के साथ-साथ आम जनमानस की रोजमर्रा की आवश्यकता की वस्तुओं की बिक्री की भी अनुमति प्रदान की गई है। बरेली जनपद द्वारा प्रेषित प्रस्ताव के अनुसार मॉडल शॉप के रूप में एक दुकान के निर्माण में रू 8.46 लाख (रू 8,46,245.99) रुपये की अनुमानित आर्थिक लागत का आंकलन उपलब्ध कराया गया। इसमें प्रयुक्त सामग्री की अनुमानित लागत रू 6.97 लाख (रू 6,97,220.71) सामग्री मद पर खर्च होंगे। श्रमिकों पर आने वाली अनुमानित लागत 1.49 लाख (रू 1,49,025.25) की धनराशि सम्मिलित है। निर्मित उचित दर दुकान का कुल क्षेत्रफल 484 वर्ग फीट होगा। दुकान के समक्ष 24फीटग्4फीट चौड़ा बरामदा व प्रतीक्षा शेड की व्यवस्था की गई है। एक भाग में उचित दर की दुकान होगी। इसमें खाद्यान्न संग्रहण की भी व्यवस्था है। स्टोर के दूसरे भाग में जन सुविधा केंद्र एवं जनरल स्टोर का संचालन किया जाएगा।
ग्राम्य विकास आयुक्त ने बताया कि अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस अन्नपूर्णा भवन यह उचित दर दुकान (अन्नपूर्णा भवन) अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होंगी। यहां सीसीटीवी कैमरे के साथ ही इंटरनेट व बिजली की भी सुविधा होगी। हर गतिविधि सीसीटीवी कैमरे में कैद होगी।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,