बालिका विद्यालय में महिला स्वास्थ्य कार्यक्रम एवं सम्मान समारोह आयोजित




लखनऊ,मां केवल बच्चे को जन्म ही नहीं देती है बल्कि उसे प्यार करने, देखभाल करने एवं बिना किसी शर्त के स्वयं को आजीवन समर्पित करने को तत्पर रहती हैं। हर व्यक्ति के जीवन में मां की अहम भूमिका रहती है जो कि अपनी संतान को प्यार दुलार  ममत्व देने के साथ रक्षक, पथ प्रदर्शक व अनुशासक की भूमिका निभाती है।

महिला दिवस के अवसर पर माताओं के साथ संवाद करने, उनको जागरूक करने और फिर से उनको उनके बचपन की स्मृतियों का साक्षात्कार करने के लिए बालिका विद्यालय इंटर कालेज मोतीनगर लखनऊ में आज पराकाष्ठा फाउंडेशन द्वारा एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। डॉ लीना मिश्र, प्रधानाचार्य ने फाउंडेशन की चीफ कोऑर्डिनेटर कविता सिंह तथा सीनियर प्रोग्राम ऑफिसर रेशमा  समी का विद्यालय परिवार की ओर से स्वागत किया तथा महिला दिवस के महत्व और फाउंडेशन के उद्देश्य को समझाते हुए छात्राओं की माताओं का विद्यालय में स्वागत किया। सुश्री कविता एवं रेशमा द्वारा माताओं को बदली जीवन शैली के दुष्प्रभाव एवं मोबाइल के अत्यधिक प्रयोग से रिश्तों में आए दुष्प्रभाव एवं दूरियां, कैंसर, मधुमेह जैसी बीमारियों से बचाव, प्राणायाम व योग का महत्व, मोनोपॉज से बचाव के तरीके बताने के साथ-साथ बहुत सारी माताओं को सम्मानित किया गया। इस कार्यक्रम में विद्यालय की समस्त शिक्षिकाओं उमा रानी यादव, सीमा आलोक वार्ष्णेय,शालिनी श्रीवास्तव ,पूनम यादव, उत्तरा सिंह, अनीता श्रीवास्तव, माधवी सिंह, रागिनी यादव,मंजुला यादव, मीनाक्षी गौतम, प्रतिभा रानी, रितु सिंह ने पूरे उत्साह से प्रतिभाग किया तथा छात्राओं की माताओं को प्रोत्साहित किया गया। समस्त छात्राओं ने भी पूरे उत्साह से इस कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,