मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को प्रतीकात्मक चेक, चाभी, प्रमाण पत्र, स्वीकृत पत्र, लैपटाप व आयुष्मान कार्ड वितरित किये




लखनऊ : 13 मार्च, 2024

     उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने बरेली कॉलेज मैदान, बरेली में आयोजित कार्यक्रम में 328.43 करोड़ रुपये लागत की कुल 64 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। उन्होंने जनपद बरेली में 111.02 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित महादेव सेतु कोतवाली से कोहड़ा पीर 02-लेन उपरिगामी सेतु का लोकार्पण किया। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री जी ने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को प्रतीकात्मक चेक, चाभी, प्रमाण पत्र, स्वीकृत पत्र, लैपटाप व आयुष्मान कार्ड वितरित किया।
इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि बरेली में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की प्रेरणा से नाथ नगरी कॉरिडोर की परिकल्पना साकार हो रही है। बरेली स्मार्ट सिटी के तहत कुतुबखाना पर महादेव उपरिगामी सेतु बनकर तैयार हो गया है। लोक निर्माण मंत्री श्री जितिन प्रसाद द्वारा इस पुल का निर्माण समय से पूर्ण कराया गया है। उन्होंने पुल के निर्माण में सहयोग प्रदान करने के लिए बरेली के उद्यमियों और व्यापारियों का अभिनंदन किया।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि बरेली पहले अपने झुमकों के लिए जाना जाता था, अब फ्लाईओवर और आई0टी0 पार्क के लिए जाना जाएगा। आज जनपद की एक नई पहचान बन रही है। जनपद अब विरासत और विकास का अदभुत संगम बन रहा है। उन्होंने कहा कि देश बदल चुका है। हम कह सकते हैं कि हम एक विकसित भारत के नागरिक है। भारत ने 10 वर्ष में मूलभूत सफलता प्राप्त की है, पूरी दुनिया भारत की तरफ आशा भरी नजरों से देख रही है। भारत का सम्मान बढ़ने का मतलब भारत के हर नागरिक का सम्मान बढ़ा है। देश की सीमाएं सुरक्षित हुई हैं। नक्सलवाद और आतंकवाद लगभग समाप्त हो चुका है, अब दुश्मन भारत की सीमा की तरफ आंख उठाकर नहीं देख सकता। यह नया भारत है जो किसी को छेड़ता नहीं है, लेकिन अगर कोई छेड़ता है, तो उसे छोड़ता नहीं है।
इसके उपरान्त मुख्यमंत्री जी ने बरेली जी0आई0सी0 स्थित ऑडिटोरियम में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा पी0एम0-सूरज राष्ट्रीय पोर्टल की लॉन्चिंग एवं आर्थिक सशक्तिकरण योजनाओं के अंतर्गत लाभार्थियों से संवाद एवं ऋण वितरण कार्यक्रम में वर्चुअल माध्यम से सम्मिलित हुये। इसके पश्चात मुख्यमंत्री जी ने आदिनाथ चौक का उद्घाटन एवं डमरू का अनावरण किया। ज्ञातव्य है कि यह चौराहा पहले डेलापीर चौराहे के नाम से जाना जाता था अब यह आदिनाथ चौराहा के नाम से जाना जायेगा।
इस अवसर पर पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्री जयवीर सिंह, लोक निर्माण मंत्री श्री जितिन प्रसाद, वन एवं पर्यावरण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री अरुण कुमार सक्सेना सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
ज्ञातव्य है कि मुख्यमंत्री जी द्वारा लोकार्पित की गयी परियोजनाओं में 1.69 करोड़ रुपये की लागत से राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, सी0बी0 गंज में वर्कशॉप-1 एवं सैद्धांतिक भवन का नवीनीकरण, 22.53 करोड़ रुपये की लागत से नंदौसी में खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रयोगशाला तथा मंडलीय कार्यालय भवन, 111.02 करोड़ रुपये की लागत से स्मार्ट सिटी परियोजना के अन्तर्गत कोतवाली से कोहाड़ापीर तक दो लेन उपरिगामी सेतु, 5.90 करोड़ रुपये की लागत से 15वें वित्त आयोग के अंतर्गत आई0वी0आर0आई0 रोड एवं आदिनाथ चौराहे का सौंदर्यीकरण का कार्य सम्मिलित है।
साथ ही, शिलान्यास की गयी परियोजनाओं में 70.15 करोड़ रुपये की लागत से नगर पंचायत शीशगढ़, बिशारतगंज, मीरगंज, सेंथल व फतेहगंज पूर्वी में पुनर्गठन पेयजल योजना, खेल विभाग के अन्तर्गत 9.55 करोड़ रुपये की लागत से बरेली स्पोर्ट्स स्टेडियम में सिंथेटिक रनिंग ट्रैक का कार्य, समाज कल्याण विभाग के अन्तर्गत 7.28 करोड़ रुपये की लागत से विकास खण्ड भोजीपुरा के ग्राम गोपालपुर एवं विकास खण्ड आंवला के ग्राम मनौना में ट्रांजिट हॉस्टल राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय का कार्य, प्रावैधिक शिक्षा विभाग के अन्तर्गत 1.549 करोड़ रुपये की लागत से राजकीय महिला पॉलीटेक्निक संस्था में परिसर की चहारदीवारी का निर्माण कार्य, आई0टी0 एण्ड इलेक्ट्रानिक्स के अन्तर्गत 18 करोड़ रुपये की लागत से सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क (आई0टी0 पार्क) सी0बी0 गंज का कार्य, सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के अन्तर्गत 24.79 करोड़ रुपये की लागत से विभिन्न 06 परियोजनाओं का कार्य, लोक निर्माण विभाग के अन्तर्गत 43 योजनाओं का कार्य सम्मिलित है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,