संदेश

श्री राम जन्मभूमि आन्दोलन के सारथी - श्रद्धेय अशोक सिंहल

चित्र
  27 सितंबर जन्म जयंती पर विशेष- मृत्युंजय दीक्षित   राष्ट्रवादी विचारधारा के परिपालक व बहुसंख्य हिंदू समाज में राममंदिर आंदोलन के माध्यम से जागरूकता उत्पन्न करने वाले विश्व  हिंदू परिषद के संस्थापक अशोक सिंहल जी के अथक परिश्रम, समर्पित व्यक्तित्व  व ओजस्वी उद्बोधनों  का ही परिणाम है  कि आज हिंदू समाज में सामाजिक समरसता का भाव दिखायी पड़ता है। संत समाज व विभिन्न अखाड़ा परिषदों को एक मंच पर लाने का अकल्पनीय कार्य भी अशोक जी ने ही  संभव कर दिखाया । अयोध्या में श्री रामजन्मभूमि मुक्ति के लिए जीवन अर्पण  कर सतत प्रयासरत रहने वाले अशोक सिंहल जी ने हिंदुओं की खोती जा रही स्मृतियों को एक बार फिर से संजोने का काम भी कर दिखाया । यह उन्हीं के प्रयासों का परिणाम हैं कि आज देश का बहुसंख्यक समाज अपने आप को गर्व से हिंदू कहना चाहता है। हिंदुत्व के हित का संरक्षण करने व उसके दायित्व का वहन करने के लिए विश्व  हिंदू परिषद की स्थापना भी उन्हीं के प्रयासों से संभव हो सकी।  अशोक सिंहल जी  ने देश , समाज , हिंदू सभ्यता , संस्कृति और संस्कार के लिए अपना सर्वस्व समर्पित कर दिया। उन्होने श्री राम जन्मभूमि मुक्ति

संविदा कर्मियों के मामले में अधिकारी फुल करप्शन के लक्ष्य के साथ बड़े घोटालों को अंजाम दे रहे है- कृष्णकांत पाण्डेय

चित्र
  लखनऊ, 26 सितंबर 2022। सोमवार उत्तर प्रदेश में नौकरियां न होने से बेरोजगार संविदा पर काम करने के लिए मजबूर हैं। संविदा पर काम कर रहे ज्यादातर संविदा कर्मियों को समय पर भुगतान न मिलना और कम वेतन मिलने की समस्या आम है, प्रदेश की योगी सरकार जीरो टॉलरेंस का दावा करती है, लेकिन संविदा कर्मियों के मामले में अधिकारी फुल करप्शन के लक्ष्य के साथ बड़े घोटालों  को अंजाम दे रहे है। प्रदेश कांग्रसे प्रवक्ता कृष्णकांत पाण्डेय ने उक्त जानकारी देते हुए आगे बताया कि ऐसे ही मामले को लेकर सुल्तानपुर जिले में मुख्य विकास अधिकारी ने जिला प्रोबेशन अधिकारी से संबंधित संविदा कर्मियों के एरियर भुगतान की जांच तीन सदस्यों की कमेटी से कराया, जिसमे गड़बड़ी पायी गई। इस मामले में जिला समाज कल्याण अधिकारी की भूमिका पर भी सवाल उठे थे। जांच में गलत भुगतान की जानकारी भी प्रकाश में आई। सरकार के उच्च अधिकारियों के संरक्षण में र्भ्ष्टाचार को अंजाम दिया जा रहा। सरकार पीड़ितों की शिकायत को भी संज्ञान में नही ले रही है। राज्य सरकार के छह महीने पूरे होने पर खुशी मना रही है, जबकि नौजवान, बेरोजगार रहने के लिए अभिशप्त एवं दाने-दाने

सामाजिक एकता को कायम रखने के लिए बढ़ाएं मेल जोल: हृदया नन्द शर्मा

चित्र
समस्या समाधान के लिए होना होगा जागरूक: मोहनलाल गुप्ता बैठक में सामाजिक सद्भाव पर हुई चर्चा कसया, कुशीनगर।  तहसील क्षेत्र के ग्राम बटेसरा पंचायत भवन में आईडिया ऑफ इंडिया के तहत राष्ट्रीय एकता, शांति और न्याय पर चर्चा की गयी और सामाजिक सद्भाव पर जोर दिया गया। ग्रामीणों के साथ सामाजिक मुद्दों पर चर्चा करते हुए ग्रामप्रधान मोहनलाल गुप्ता ने ग्राम स्वराज व गांव की खुशहाली पर चर्चा करते हुए कहा कि समस्याओं के समाधान के लिए हमें जागरूक होना होगा। सामाजिक एकता को कायम रखने के लिए संयम व जिम्मेदारी आवश्यक है।  सामाजिक कार्यकर्ता हॄदया नन्द शर्मा ने विचारों को सोचते रहना चाहिए कि समाज में क्या हो रहा है और कुछ ऐसे कार्य होते हैं उससे एकता खतरे में आ जाती है। ऐसा वातावरण का निर्माण करें ताकि एकता व प्रेम कायम रहे। हमें मेल जोल की संस्कृति को आगे बढ़ाने पर जोर दिया गया। तथा विवादों को गांव में ही सुलह कर लेने के उपायों पर आगे आना चाहिए। जिससे समाज में अमन, चैन व शांति कायम होगी। इस अवसर पर अनवर अंसारी, गोरख यादव, श्रीराम मद्धेशिया, अलिउल्लाह, अनिल यादव आदि ग्रामीण उपस्थित रहे।

राज्य की 25 करोड़ जनता को जाति, मत, मजहब, क्षेत्र तथा भाषा से परे प्रदेश सरकार ने अपने परिवार की तरह माना: मुख्यमंत्री

चित्र
  लखनऊ: 20  सितम्बर , 2022 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के प्रत्येक व्यक्ति को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है। स्वास्थ्य के सम्बन्ध में किसी भी लापरवाही पर शासन स्तर से जवाबदेही सुनिश्चित की जाती है। प्रदेश के 25 करोड़ लोगों के प्रति सरकार पूरी जवाबदेही के साथ कार्य कर रही है। इसमें कोई सन्देह नहीं होना चाहिए। राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे-04 तथा 05 के आंकड़े गवाही देते हैं कि विगत साढ़े पांच वर्षों में प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं में बेहतरीन सुधार हुआ है। राज्य में गर्भवती महिलाओं व किशोरी कन्याओं में एनीमिया के स्तर को नियंत्रित करने में सफलता प्राप्त हुई है। इसमें प्रदेश का औसत, राष्ट्रीय औसत से भी अच्छा है। शिशु मृत्यु दर तथा मातृ मृत्यु दर में पहले की तुलना में सुधार हुआ है। अन्य विषयों में भी प्रदेश ने उत्तरोत्तर प्रगति की है। मुख्यमंत्री जी आज यहां विधान सभा में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश के जनपदों गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, महराजगंज, सिद्धार्थनगर, संतकबीर नगर तथा देव

शतरंग प्रकाशन द्वारा प्रकाशित होने बाली अनुपम पुस्तक-"1842 ललितपुर-" अग्रिम बुकिंग 550 रूपये बाली पुस्तक मात्र 300 रूपये में

चित्र
 शतरंग प्रकाशन द्वारा प्रकाशित होने बाली अनुपम पुस्तक-1842 ललितपुर लेखक सुप्रसिद्ध पत्रकार सुरेन्द्र अग्निहोत्री। अग्रिम बुकिंग 550 रूपये बाली पुस्तक मात्र 300 रूपये में।अग्रिम बुकिंग हेतु उपरोक्त एकाउन्ट में राशि भेज कर प्रति बुक करें।Email:timesshatrang@gmail.com, wat-9415508695,8787093085, Shtrng prkshn                                     A/C:4532000100079801                 IFSC:KARB0000453                             BANK:KARNATAKA BANK                 BRANCH:LUCKNOW                   

लाल बहादुर शास्त्री, गन्ना किसान संस्थान, डॉलीबाग लखनऊ की श्रोतृशाला (ऑडिटोरियम) की बुकिंग अब केवल ऑनलाइन पोर्टल www.upgannasanstÈn.in द्वारा की जा सकेगी

चित्र
  डिजिटलीकरण की दिशा में चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग की एक और पहल लाल बहादुर शास्त्री, गन्ना किसान संस्थान, डॉलीबाग लखनऊ की श्रोतृशाला (ऑडिटोरियम) की बुकिंग अब केवल ऑनलाइन पोर्टल द्वारा की जा सकेगी कार्यक्रम आयोजकों को घर बैठे मिलेगी ऑडिटोरियम बुकिंग की सुविधा ऑडिटोरियम बुकिंग हेतु प्रार्थना पत्र का प्रिन्ट लेने, आवेदन का स्टेटस चेक करने एवं बुकिंग से संबधित नियम एवं शर्तों की जानकारी पोर्टल पर उपलब्ध श्रोतृशाला (ऑडिटोरियम) बुकिंग की सम्पुष्टि एवं रद्दीकरण, अद्यावधिक स्थिति की जानकारी आयोजकों को ई-मेल के द्वारा प्रदान की जायेगी लखनऊः 02 सितम्बर, 2022 प्रदेश के अपर मुख्य सचिव, चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग श्री संजय आर. भूसरेड्डी द्वारा बताया गया कि डिजिटलीकरण को बढ़ावा देने के दृष्टिगत निर्णय लिया गया है कि डालीबाग, लखनऊ स्थित लाल बहादुर शास्त्री गन्ना किसान संस्थान के ऑडिटोरियम की बुकिंग अब केवल ऑनलाइन माध्यम से स्वीकार की जायेगी। इस व्यवस्था के लागू होने से पूर्व ऑडिटोरियम बुकिंग हेतु आयोजकों को कार्यालय आकर बुकिंग करानी पड़ती थी। श्री भूसरेड्डी ने बताया कि दूरदराज के सांस्कृ

समाधान योजना के अन्तर्गत प्रदेश के लगभग 3.32 लाख व्यापारी लाभान्वित जी0एस0टी0 से संबंधित समस्त कार्य ऑनलाइन जी0एस0टी0 पोर्टल पर

लखनऊः 02 सितम्बर, 2022        जीएसटी के अन्तर्गत प्रान्त के अन्दर खरीद-बिक्री करने वाले वस्तुओं के व्यापारियों के लिए रू0 1.5 करोड़ वार्षिक टर्न ओवर तक एवं सेवाक्षेत्र के व्यापारियों हेतु 60 लाख़ रूपये वार्षिक टर्न ओवर तक समाधान योजना प्रभावी है। इसके अन्तर्गत व्यापारियों द्वारा प्रत्येक त्रैमास के अन्त में वार्षिक टर्नओवर का मात्र 01 प्रतिशत जी0एस0टी0 जमा किया जा रहा है। रेस्टोरेन्ट के व्यापारियों को मात्र 5 प्रतिशत जीएसटी जमा किये जाने की अलग से समाधान योजना लागू है।      राज्य कर विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार जीएसटी में समाधान योजना के अन्तर्गत प्रदेश के लगभग 3.32 लाख व्यापारी लाभान्वित है। शून्य खरीद बिक्री से संबंधित रिटर्न एसएमएस के माध्यम से दाखिल करने की सुविधा दी गयी है। इसके अलावा  05 करोड़ रुपये तक की वार्षिक कारोबार सीमा तक के व्यापारियों हेतु मासिक कर, किन्तु तिमाही रिटर्न की सुविधा प्रदान की गयी है।      जी0एस0टी0 से संबंधित समस्त कार्य यथा रजिस्ट्रेशन, रिटर्न, पेमेण्ट, रिफण्ड व अमेण्डमेण्ट आदि ऑनलाइन जी0एस0टी0 पोर्टल पर समयबद्ध किये जा रहे हैं। इससे व्यापारियों को किस

कुशीनगर, गोरखपुर, लखनऊ, बरेली, प्रतापगढ़, गोण्डा, गाजीपुर तथा बलिया के पर्यटन विकास की परियोजनाओं पर शीघ्र कार्य शुरू होगा -जयवीर सिंह

लखनऊ: 02 सितम्बर 2022 पर्यटन विभाग द्वारा विभिन्न जनपदों से प्राप्त पर्यटन विकास के 97 प्रस्तावों में से 18 का आंकलन तैयार कराकर स्वीकृत किये जाने की कार्यवाही पूरी कराई जा रही है। इन प्रस्तावों पर शीघ्र ही निर्णय लेते हुए विभिन्न जनपदों से प्राप्त प्रस्तावों के अनुसार पर्यटन को बढ़ावा देने वाली परियोजनाओं पर कार्य शुरू करा दिया जायेगा। यह जानकारी पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्री जयवीर सिंह ने देते हुए बताया कि कुशीनगर, गोरखपुर, लखनऊ, बरेली, प्रतापगढ़, गोण्डा, गाजीपुर तथा बलिया से संबंधित प्रस्ताव मा0 सांसद एवं विधायकों तथा संबंधित जिलाधिकारियों द्वारा प्रस्तुत किये गये हैं। जिनके लिए धनराशि का आंकलन तैयार करते हुए अग्रेतर कार्यवाही की जा रही है। पर्यटन मंत्री ने बताया कि जनपद कुशीनगर में बुद्धाथीम पार्क के निर्माण हेतु 1941.40 लाख रूपये, गोरखपुर में स्टेट इंस्टीट्यूट आफ होटल मैनेजमेंट के निर्माण हेतु 4995.52 लाख रूपये का आंकलन तैयार कराया गया है। इसी प्रकार लखनऊ में महाराजा पासी किले पर एसईएल शो तथा पर्यटन विकास के लिए प्रस्तावित योजना हेतु 2499.15 लाख रूपये का आंकलन तैयार कराया गया है।

मथुरा से गोकुल बैराज तक क्रूज/फेरी सेवा जल्द शुरू की जायेगी -जयवीर सिंह

चित्र
उ0प्र0 व्रज तीर्थ विकास परिषद की बैठक संपन्न लखनऊः 31 अगस्त, 2022 यमुना नदी में मथुरा से गोकुल बैराज के 22 किमी0 दूरी तक पर्यटकों एवं श्रद्धालुओं के सुलभ आवागमन हेतु वाराणसी की तरह क्रूज/फेरी सेवा का संचालन किया जायेगा। इससे मथुरा में आने वाले देशी-विदेशी सैलानियों को सुविधा होगी और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। इस परियोजना के लिए इनलैण्ड वॉटरवे अथारिटी ऑफ इंडिया द्वारा रीवर क्रूज और फेरी सेवा के संचालन के लिए विस्तार से प्रस्तुतीकरण किया गया। पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री आज पर्यटन भवन में मथुरा जनपद के यमुना में क्रूज सेवा संचालन के मुद्दे पर उ0प्र0 व्रज तीर्थ विकास परिषद द्वारा दिये गये प्रस्तुतीकरण का अवलोकन कर रहे थे। इस बैठक में क्रूज सेवा के लिए घाटों के निर्माण के अलावा अन्य स्थापना सुविधाओं के विकास के प्रकरण पर विस्तार से चर्चा की गयी। श्री जयवीर सिंह ने कहा कि क्रूज सेवा के संचालन के लिए आगे की कार्यवाही को शीघ्रता से पूरा किया जाए। उन्होंने कहा कि भारत सरकार के सहयोग से शुरू की जाने वाली यह सेवा पर्यटकों के साथ ही किसानों एवं आमजनमानस के लिए उपयोगी सिद्ध होगी। उन्होंने कहा कि क्रूज

जनजातीय संस्कृति के संरक्षण, संवर्धन तथा परिवर्धन के लिए प्रदेश में 02 जनजातीय संग्रहालयों का निर्माण कराया जायेगा-जयवीर सिंह

चित्र
संग्रहालयों के स्थापना के लिए पर्यटन व संस्कृति मंत्री एवं समाज कल्याण मंत्री जी के साथ संयुक्त बैठक सम्पन्न लखनऊः 31 अगस्त, 2022 उत्तर प्रदेश के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री तथा समाज कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री असीम अरूण की संयुक्त बैठक में प्रदेश में दो स्थानों पर जनजातीय संग्रहालय स्थापित किये जाने पर विस्तार से विचार विमर्श किया गया। बैठक में यह निर्णय लिया गया कि जनजातीय संग्रहालय स्थापित करने के लिए भूमि चिन्हित कर अग्रिम कार्यवाही शुरू कराई जाए। पर्यटन मंत्री श्री जयवीर सिंह ने कहा कि एक जनजातीय संग्रहालय संस्कृति विभाग द्वारा राजधानी अथवा किसी जनपद में उपयुक्त स्थान पर बनाया जायेगा और दूसरा संग्रहालय समाज कल्याण विभाग द्वारा स्थापित कराया जायेगा। इस संग्रहालय के निर्माण का मुख्य उद्देश्य जनजातीय समाज की प्राचीन परम्पराओं, मान्यताओं एवं संस्कृति को संरक्षित करके उसका संरक्षण, संवर्धन एवं परिवर्धन करना है। इन संग्रहालयों में जनजातीय समाज के रीति-रिवाज, वेश-भूषा, व्यंजन को प्रदर्शित करने के साथ उनके गौरवशाली इतिहास एवं समृद्ध परम्पराओं के प्रतीकों को भी प्रदर्शित किया