प्रधान मंत्री झाँसी में विभिन्न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन या शिलान्यास करेंगे








 


 

 

डिफेन्स कॉरिडोर,पहाड़ी बांध आधुनिकीकरण परियोजना.                बुंदेलखंड में पानी की आपूर्ति ,कोच रीफर्बिशिंग वर्कशॉप,

 

                           भीमसेन-खैरार रेलवे लाइनों के दोहरीकरण का शिलान्यास


लखनऊ दिनांक 14 फरवरी, 2019 ।यूपी के बुंदेलखंड क्षेत्र में प्रधान मंत्री अनेक सौगात देने आज आ रहे है। पीआईबी दिल्ली द्वारा जारी रिर्पोट के अनुसार प्रधान मंत्री  नरेंद्रमोदी 15 फरवरी 2019 को झाँसी का दौरा करेंगे। प्रधान मंत्री झाँसी में विभिन्न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन या शिलान्यास करेंगे।

पीएम उत्तर प्रदेश के झांसी में फाउंडेशन स्टोन ऑफ डिफेंस कॉरिडोर का शिलान्यास करेंगे। भारत को रक्षा उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाने के लिए भारत सरकार ने देश में दो रक्षा गलियारे, एक तमिलनाडु और दूसरा उत्तर प्रदेश में स्थापित करने का निर्णय लिया था। झांसी यूपी रक्षा गलियारे के छह नोडल बिंदुओं में से एक है। फरवरी 2018 को आयोजित यूपी इन्वेस्टर्स मीट के दौरान प्रधान मंत्री ने यूपी के बुंदेलखंड क्षेत्र में इस तरह के एक गलियारे की स्थापना की घोषणा की थी।पीएम झांसी- खैरार खंड के 297 किलोमीटर लंबे खंड के विद्युतीकरण का उद्घाटन करेंगे। विद्युतीकरण से तेज ट्रेनें, कम कार्बन उत्सर्जन और टिकाऊ पर्यावरण होगा।वह पश्चिमी उत्तर प्रदेश को निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए राष्ट्र-पश्चिम अंतर-क्षेत्र विद्युत पारेषण सुदृढ़ीकरण परियोजना को भी समर्पित करेगा।प्रधान मंत्री ने यूपी के बुंदेलखंड क्षेत्र में डैम आधुनिकीकरण परियोजना का उद्घाटन पहाड़ी बाँध  का करेगें।यह सिचाई हेतु जल संग्रहण बाँध है जो झाँसी जिले में धसान नदी पर बना  है।बुंदेलखंड क्षेत्र में सभी को पेयजल उपलब्ध कराने के सरकार के दृष्टिकोण के अनुरूप, पीएम बुंदेलखंड क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्रों के लिए पाइप्ड वाटर योजना की नींव रखेंगे। यह परियोजना महत्वपूर्ण है क्योंकि यह सूखा प्रभावित बुंदेलखंड क्षेत्र को जलापूर्ति सुनिश्चित करेगी। एएमआरयूटी के तहत झांसी शहर की पेयजल योजना फेज -2 का फाउंडेशन का शिलन्यास करेगें।झांसी में े कोच रीफर्बिशिंग वर्कशॉप का फाउंडेशन शिलन्यास करेगें। इस सुविधा से बुंदेलखंड क्षेत्र में रोजगार के अवसर पैदा होंगे।पीएम 425 किलोमीटर लंबी झांसी-मानिकपुर और भीमसेन-खैरार रेलवे लाइनों के दोहरीकरण का शिलान्यास करेंगे। यह न केवल ट्रेनों की आसान आवाजाही प्रदान करेगा बल्कि बुंदेलखंड क्षेत्र के समग्र विकास में भी मदद करेगा।उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक,मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा कई प्रदेश के मंत्री प्रधान मंत्री की अगुवानी करेगें।




 

 



 



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,