लोग पार्टी ने मिड-डे-मील घोटाले के लिए यूपी बीजेपी सरकार कड़ी निंदा की

लखनऊ, 30 नवंबर: सरकारी स्कूलों में बच्चों को मध्याह्न भोजन के वितरण में व्याप्त भ्रष्टाचार को नियंत्रित करने में विफल रहने के लिए लोग पार्टी ने आज यूपी में भाजपा सरकार की कड़ी निंदा की है। पार्टी ने कहा कि कुछ महीने पहले मिर्जापुर के एक स्कूल में बच्चों को "नमक-रोटी" बांटने के बाद  अब सोनभद्र के एक स्कूल में अत्यधिक मिलावटी दूध के वितरण को लेकर एक घोटाले का खुलासा हुआ है।


पार्टी के प्रवक्ता ने शनिवार को यहां कहा कि 81 स्कूली बच्चों के बीच वितरण के लिए एक लीटर पानी में एक लीटर दूध मिलाया जा रहा है, गरीब बच्चे इस तरह का मिलावटी दूध पी कर बीमार हो रहे है। इसी तरह मिर्जापुर में बच्चों को निर्धारित भोजन के बजाय "रोटी और नमक" प्रदान किया जा रहा था। प्रवक्ता ने कहा कि इस तरह के भ्रष्टाचार में वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों की भागीदारी है यह सिर्फ निचले स्तर के अधिकारियों का काम नहीं हो सकता।               प्रवक्ता ने कहा कि हाल ही में केंद्र सरकार ने लोकसभा को बताया कि पिछले तीन वर्षों के दौरान 14 मामलों के साथ मिड-डे-मील (एमडीएम) योजना में भ्रष्टाचार के मामले में यूपी शीर्ष पर है। प्रवक्ता ने कहा कि जमीनी स्तर पर स्थिति सबसे ज़्यादा खराब है। प्रवक्ता ने कहा कि प्रतिदिन लगभग 1.59 करोड़ छात्रों को मध्याह्न भोजन परोसा जाता है जो देश में सबसे अधिक है। प्रवक्ता ने कहा कि यूपी की बीजेपी सरकार भ्रष्टाचार को खत्म करने के बारे में लंबे-चौड़े दावे कर रही है, लेकिन वास्तव में लोगों को सिर्फ सत्ताधारी पार्टी के निहित स्वार्थ की पूर्ति के लिए गुमराह किया जा रहा है। प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा सरकार की नाक के नीचे भारी भ्रष्टाचार हो रहा है।


प्रवक्ता ने कहा कि बढ़ते अपराध के ग्राफ पर कोई नियंत्रण नहीं है, हर विभाग में भ्रष्टाचार तेज गति से बढ़ा है। प्रवक्ता ने कहा कि पीडीएस, पीएफ, शिक्षा और होमगार्ड्स और अब एमडीएम में घोटाले के उजागर होने ने राज्य में मौजूदा ख़राब स्थिति का संकेत दिया है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,