बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर यूनिवर्सिटी, लखनऊ के जनसंचार एवं पत्रकारिता विभाग में एलुमनाई मीट


बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर यूनिवर्सिटी, लखनऊ के   जनसंचार एवं पत्रकारिता विभाग में आज दिनाँक 3 दिसंबर 2019 को एलुमनाई मीट और पेरेंट्स टीचर  मीटिंग हुई। मीटिंग में विभाग के प्रथम व तृतीय सत्र के विद्यार्थी अपने अभिभावकों के साथ आए और विभाग के समस्त शिक्षकों से मुलाकात की। अभिभावकों ने अपने बच्चों का पढ़ाई व अन्य कार्यकलापों में प्रदर्शन जाना। जिसके बाद विवि के पर्यावरण विज्ञान विद्यापीठ के सभागार में एलुमनाई मीट हुई। कार्यक्रम में विभाग के सभी पूर्व छात्रों को आमंत्रित किया गया था। एलुमनाई मीट में कवि सम्मेलन का आयोजन भी हुआ। यह आयोजन जनसंचार एवं  पत्रकारिता विभाग और जीवन जागृति सेवा मंच के संयुक्त तत्वावधान में हुआ। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि विवि के कुलपति आचार्य संजय सिंह, डीन एकेडमिक प्रो0 आर0 पी0 सिंह, कार्यक्रम की संयोजिका श्रीमती श्वेता श्रीवास्तव व कविता पाठ के लिए आए हास्य रस के कवि श्री विपिन मलीहाबादी, श्री मुकुल महान, श्री दिनेश पाठक, डॉ0 सर्वेश सिंह, श्री सर्वेश अस्थाना, श्री आयुष चतुर्वेदी, श्री पंकज मिश्र, श्री आशुतोष राय, श्री अनुराग अनंत सम्मेलन में उपस्थित रहे।

 

विभागाध्यक्ष डॉ0 गोविंद जी पांडेय ने अतिथियों का स्वागत करते हुए बताया कि साहित्य और पत्रकारिता का गहरा नाता है । इसको ध्यान में रखते हुए विभाग के एलुमनाई मीट के दिन आज कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया है। 

 

विवि के कुलपति आचार्य संजय सिंह ने कहा कि कविता के माध्यम से कवि समाज की वेदना प्रकट करता है और समाज में चेतना लाता है जबकि विज्ञान उस वेदना को खत्म करने के लिए साधन का अविष्कार करता है, इस प्रकार साहित्य और विज्ञान में सृजनात्मकता और संवेदनशीलता का संबंध स्थापित होता है। उन्होंने कहा कि इस कवि सम्मेलन की सार्थकता तब है जब इसके माध्यम से समाज कल्याण का कोई मार्ग निकल कर आए। 

 

सम्मेलन में आए कवियों ने अपनी अपनी कविता का पाठ किया और पूर्व छात्रों ने अपना अनुभव वर्तमान छात्रों के साथ साझा किया व उन्हें भविष्य में प्रगति  के लिए अपने सुझाव भी दिए। कार्यक्रम के अंत में श्रीमती श्वेता श्रीवास्तव ने सभी अतिथियों, विद्यार्थियों, शिक्षकों व कर्मचारियों का कार्यक्रम में उपस्थित होने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया।

 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,