इन्टैक ने पर्यावरण संरक्षण के प्रति चलाई अनोखी मुहिम

“हमारा घर - हमारी बागवानी“



ललितपुर। विश्व पर्यावरण दिवस पर इन्टैक ललितपुर चैप्टर एवं मानव आर्गनाईजेशन के संयुक्त तत्वावधान में पर्यावरण की सुरक्षा के प्रति जागरूक और सचेत करने के उद्देश्य और पेड़-पौधों, जंगल, नदिया, झीलें, जमीन, पहाड़ कितने महत्वपूर्ण हैं, इस उद्देश्य से “हमारा घर - हमारी बागवानी“ मुंहिम की शुरूआत की गयी, जिसमें शहर के अनेकों गणमान्यजनों ने बागवानी के सुन्दर छायाचित्र शेयर किये। 
  इस मौके पर बागवानी सोशल डिस्टिेंन्सिंग का पालन करते हुये हुई संगोष्ठी में इन्टैक संयोजक सन्तोष कुमार शर्मा ने कहा कि यदि हमें अपना भविष्य स्वर्णिम, सुखमय बनाना है, तो हमें आज पर्यावरण संरक्षण के लिए हर सम्भव प्रयास करने होंगे। लोगों में पर्यावरण के प्रति जागरूक एवं संवेदनशील बनाने के लिए द्वारा “हमारा घर - हमारी बागवानी“ के अंतर्गत पर्यावरण के साथ साथ जल संरक्षण, वायु संरक्षण और धरती पर लगातार बेकाबू हो रहे प्रदूषण और ग्लोबल वार्मिंग के प्रति लोगों को जागरूक करना और प्लास्टिक प्रदूषण को रोकने के साथ साथ  वृक्षारोपण करना मुख्य उद्देश्य है। 
  जानेमाने चिकित्सक तथा समाजसेवी डा0 राजकुमार जैन ने कहा- यदि आज हम पर्यावरण के प्रति जागरूक नहीं हुये, तो आने वाला समय हमारे लिए काफी दुखदायी साबित होगा। आज के दिन ही नहीं, हमको लगातार अधिक से अधिक वृक्ष लगाने के लिए निरन्तर प्रयास करते रहना चाहिए। एक वृक्ष सौ पुत्रों के समान होता है, जो हमें जीवन भर आक्सीजन प्रदान करता है तथा वातावरण को स्वच्छ बनाने में गतिशील बना रहता है।
  कलाविद् ओ0 पी0 बिरथरे ने कहा कि आज सम्पूर्ण समाज को “हमारा घर - हमारी बागवानी“ जैसी मुहिम की आवश्यकता है। अगर देश को बनाना है तो हमें पर्यावरण का विशेष ध्यान रखना होगा। धरती पर हमारी संासें तभी तक हैं, जब तक पर्यावरण सुरक्षित है। 
  वरिष्ठ पत्रकार मनोज पुरोहित ने कहा पर्यावरण सरंक्षण सभी की जिम्मेदारी है। यह किसी सरकार या संस्था विशेष का काम नहीं है। समाज के हर व्यक्ति को पर्यावरण संरक्षण के लिए आगे आना चाहिए। 
  पर्यावरणविद् पुष्पेन्द्र सिंह चैहान ने कहा कि अगर आप किसी आयोजन में शिरकत नहीं कर पा रहे है तो कम से कम अपने आसपास हरियाली बनाये रखे और दूसरों को पर्यावरण संरक्षण करने के उद्देश्य से मदद करते रहे। उन्होंने नया स्लोगन देते हुये कहा कि पेड़ पौधांे में रहते भगवान - पर्यावरण रक्षा में करो योगदान। 
  “हमारा घर - हमारी बागवानी“ की मुहिम में डा0 राजकुमार जैन, मनमोहन जड़िया, डा0 राजीव निरंजन, ओ0पी0 बिरथरे, सन्तोष श्रीवास्तव, मनोज पुरोहित, हरिबल्लभ शुक्ला, पुष्पेन्द्र सिंह एड0, विनोद त्रिपाठी, उर्वशी गुप्ता, शशिकांत राजपूत, आरती कुशवाहा, नसीब लकी, राजीव शर्मा आदि की बागवानी काफी प्रशंसनीय रही। इसके अतिरिक्त अनेकों लोगों ने प्रतिभाग किया। 
  “हमारा घर - हमारी बागवानी“ में डा0 राजकुमार जैन प्रथम, डा0 राजीव कुमार निरंजन द्वितीय एवं नसीब लकी तृतीय रहे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,