किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए-डॉ ज्ञानेश्वर त्रिपाठी

हमीरपुर 29 जून 2020
   जनपद के परिषदीय विद्यालयों में अवस्थापना सुविधाओं का विकास करने व इसकी समीक्षा हेतु ऑपरेशन कायाकल्प की बैठक जिलाधिकारी डॉ ज्ञानेश्वर त्रिपाठी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई।
    सरीला ब्लाक में सर्वाधिक स्कूलों में शौचालय अक्रियाशील   पाए जाने पर जिलाधिकारी ने  खंड शिक्षा अधिकारी / एबीएसए सरीला का स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिए तथा कहा कि  सभी विद्यालयों में शत-प्रतिशत शौचालयों को क्रियाशील किया जाए  इसमें भी किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए ।  जिलाधिकारी ने कहा कि खंड विकास अधिकारियों द्वारा संज्ञान लेकर पेयजल से असंतृप्त विद्यालयों में 1 सप्ताह के अंदर पेयजल की व्यवस्था की जाए यदि हैंडपंप से पानी गंदा आ रहा है तो तत्काल रिबोर कराया जाए। ऑपरेशन कायाकल्प द्वारा विद्यालयों में अवस्थापना सुविधाओं / मूलभूत सुविधाओं का विकास किया जाए, इसके अंतर्गत विद्यालयों की बाउंड्री वाल निर्माण, विद्यालय की रंगाई पुताई कराया जाए टाइल्स आदि लगवाए जाएं। उन्होंने कहा कि सभी विद्यालयों में अभियान चलाकर 15 दिनों के अंदर दिव्यांग रैंप तथा दिव्यांग शौचालय बनवाए जाएं। सभी विद्यालयों में 1 सप्ताह के अंदर हैंडवाशिंग यूनिट स्थापित की जाए। इसके अतिरिक्त विद्यालयों में सैनिटाइजेशन के जो भी कार्य हैं उनको सर्वोच्च प्राथमिकता पर किया जाए।
  मनरेगा के अंतर्गत सभी ग्राम पंचायतों में खेल का मैदान विकसित किया जाए खेल का मैदान आधा हेक्टेयर से कम नहीं होना चाहिए इसका विशेष ध्यान दिया जाए। पंचायत राज विभाग द्वारा कम्युनिटी टॉयलेट बनवाए जाएं।
  इसके अलावा श्रमिकों /कामगारों के सामाजिक एवं आर्थिक सुरक्षा हेतु एवं उनके सर्वांगीण विकास की प्राप्ति हेतु जिला स्तरीय समिति की बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि प्रवासियों तथा अन्य जरूरतमंद लोगों को उनकी स्किल मैपिंग कर उनकी योग्यता एवं क्षमता के अनुसार काम दिया जाए। ओडीओपी योजना में लोन दिलाया जाए इस पर विशेष ध्यान दिया जाए। कौशल प्रशिक्षण केंद्र के अंतर्गत प्रशिक्षण प्राप्त लोगों को रोजगार दिलाया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि विभिन्न विभागों के अंतर्गत जो निर्माण कार्य संचालित हैं उनका निर्माण एजेंसी से संपर्क कर  उनके माध्यम से लोकल / श्रमिकों प्रवासियों को प्राथमिकता से रोजगार दिलाया जाए। इसके अतिरिक्त जनपद के औद्योगिक / व्यवसायिक इकाइयों के माध्यम से भी प्रवासियों / जरूरत मंद लोगों को रोजगार दिलाया जाए। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए।
  इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी कमलेश कुमार वैश्य, पीडी चित्रसेन सिंह, डीडीओ विकास, बीएसए सतीश कुमार, बीडीओ, खंड शिक्षा अधिकारी तथा अन्य संबंधित मौजूद रहे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,