मेजर ध्यानचंद जी की जयंती पर सादर नमन! 

 हाकी के जादूगर
मेजर ध्यानचंद जी
उन महान व्यक्ति मे थे
जिन्होनें हिटलर की सेनामें ऊंचेपद,
दौलत की पेशकश को ठोकर मारकर कहा
कि मैंने भारत का नमक खाया है,मैं भारत के लिएही खेलूंगा
महान देशभक्त,भारत गौरव,
1928,1932,1936 में
में नंगे पैर खेलकर भारत को
ओलंपिक जिताने वाले,
हॉकी के महान खिलाडी 
मेजर ध्यानचंद जी की जयंती
पर सादर नमन! 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,