गरीब कल्याण रोजगार योजना में उप्र नंबर वन

गंदगी मुक्त भारत अभियान में दूसरे नंबर पर


लखनऊ, 28 सितंबर। संकट में भी कीर्तिमान बनाना मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथजी का शगल है। उनकी अगुआई में वैश्विक महामारी कोरोना के संकट के दौरान भी गरीब कल्याण रोजगार योजना में उत्तर प्रदेश सरकार ने एक कीर्तिमान रचा है। केंद्रीय जलशक्ति मंत्रालय द्वारा घोषित सामुदायिक शौचालय अभियान पुरस्कारों में से 7 उप्र के हिस्से में आना इसका सबूत है।


इसमें समग्रता में उप्र नंबर एक पर है। सम्बंधित विभाग के   अपर मुख्य सचिव/ प्रमुख सचिव/ एमडी को यह पुरस्कार दिया जाएगा। जिला प्रयागराज, हरदोई और फतेहपुर क्रमशः पहले, दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं। जिले के पुरस्कारों वहाँ के जिलाधिकारी या मुख्य विकास अधिकारी ग्रहण करेंगे। आयोजन ऑनलाइन होगा।
नॉन गरीब कल्याण रोजगार योजना में पहले और दूसरे नंबर पर क्रमशः बरेली और अलीगढ़ हैं। अलीगढ़ के खाते में स्पेशल रिकॉगनिशन का भी पुरस्कार आया है। इसी तरह गंदगी मुक्त भारत अभियान में भी समग्रता में उप्र दूसरे नंबर पर है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या