फीस माफी के मुद्दे पर प्रदर्शन


गूंगे अभिभावकों की आवाज बहरी सरकार को सुनाने के उद्देश्य अखिल भारतीय पीड़ित अभिभावक महासंघ के अध्यक्ष राकेश मिश्रा निडर ने अपनी निडरता का प्रदर्शन करते हुए कानपुर फूलबाग स्थित पानी की टंकी पर चढ़कर फीस माफी के मुद्दे पर प्रदर्शन किया। आगे निडर ने कहा कि लॉकडाउन से पूर्व निजी विद्यालय चोरी करते थे परंतु कोविड-19 के काल में ऑनलाइन शिक्षा देकर डकैती डाल रहे हैं। अभिभावकों का दल राकेश मिश्रा के समर्थन में ढपली,बैनर, प्ले कार्ड देकर जोरदार एवं उत्साही नारे लगा रहा था। जिसे पुलिस ने छीन कर जब्त कर, राकेश मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया। मिश्रा ने पुलिस की जीप में बैठते ही नो स्कूल, नो फीस! फीस गले की फांसी है, जनता भूखी प्यासी है. योगी बाबा रहम करो, कुछ तो अच्छे कर्म करो। यह जो धांधा गर्दी है,उसके पीछे वर्दी है के नारे लगाने लगे।
राकेश मिश्रा ने उन्नाव डॉक्टर विरेंद्र स्वरूप एजुकेशन सेंटर मैं कक्षा 10 में अध्ययनरत छात्र दिव्यांशु सिंह ने जो आत्महत्या की है उनका मानना है कि यह अप्रत्यक्ष रूप से स्कूल के प्रबंधक एवं प्रधानाचार्य द्वारा हत्या की गई है। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से सहयोग एवं आशीर्वाद रहा। प्रदीप त्रिपाठी, संदीप त्यागी, साहिल यादव,अनिल गुप्ता, नवीन अग्रवाल, शारिक मिर्जा, एड.मधु यादव, एड.शिशिर पांडे,एड. दयाल तिवारी,आशीष शुक्ला,रमाकांत वसीम अहमद, हरिशंकर प्रजापति, अमित कपूर,संजीव चौहान, मीनाक्षी गुप्ता, शमशाद अहमद, शाह आलम, महबूब इंटरनेशनल, सौरभ त्रिपाठी, लक्ष्मी निषाद, प्रेम यादव, सुमित मिश्रा,एड.बृजेंद्र यादव, पंकज यादव, सोहेल अख्तर, परवेज, अमित कपूर
1- शैक्षणिक वर्ष को जीरो सत्र घोषित किया जाए।
2-छात्र दिव्यांशु सिंह ने जो आत्महत्या की धाराओं में मुकदमा पंजीकृत हुआ हो उसे हत्या की धाराओं के तहत स्कूल के प्रबंधक /प्रधानाचार्य के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत कराया जाए.
3-डीएफआरसी की तत्काल बैठक सुनिश्चित की जाए एवं अप्रैल मई-जून  की संपूर्ण फीस माफ की जाए।
4-राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय के तर्ज पर ऑनलाइन शिक्षा का शुल्क निजी विद्यालयों द्वारा लिया जाए।
5-जो विद्यालय वार्षिक ₹20000 से अधिक किसी भी मद में शुल्क ले रहे हैं उनकी ऑडिटेड बैलेंस शीट उपलब्ध कराई जाए।
6-राकेश व अर्चना के बच्चों को 10000000 रुपए का फिक्स डिपाजिट व शेष बचे एक अभिभावक के लिए सरकारी नौकरी की मांग


 

 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या