विष्णु तिवारी से मिलने सिलावन पहुंचे अखिल भारतीय ब्राह्मणौत्थान महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं शिक्षक विधायक उमेश द्विवेद

डीएम से प्रधानमंत्री आवास व अन्य योजनाओं का लाभ दिलाने की उठायी मांग
शिवम अग्निहोत्री
ललितपुर। अखिल भारतीय ब्राह्मणौत्थान महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं शिक्षक विधायक उमेशद्विवेदी लखनऊ से अपने प्रांतीय अध्यक्ष प्रोफेसर सी.एल.बाजपेई एवं हाईकोर्ट की अधिवक्ता रानी तिवारी, ऊषा तिवारी व अन्य सहयोगियों के साथ ग्राम सिलावन निवासी विष्णु तिवारी द्वारा निर्दोष होते हुए अपने जीवन के अमूल्य 20 वर्ष जेल में बिताए जाने के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करने एवं सहयोग करने हेतु ग्राम सिलावन पहुंचे। उनके साथ बुंदेलखंड महाविद्यालय झांसी प्राचार्य डा.बीएल तिवारी एवं जय बुंदेलखंड कॉलेज आफ लॉ के निदेशक एवं राजकीय शिक्षक संघ के प्रांतीय महामंत्री केदारनाथ तिवारी, जयशंकर प्रसाद द्विवेदी, रामसिंह राजपूत, डीपी मिश्रा, एड.दिनेश गोस्वामी नागरिक सम्मिलित रहे। विधायक उमेश द्विवेदी ने विषणु तिवारी से झूठे केस में फंसाया जाने की पूर्ण जानकारी प्राप्त करने के बाद जिलाधिकारी से वार्ता कर विष्णु तिवारी तुरंत आवास उपलब्ध कराए जाने की बात कही। जिलाधिकारी ने अभी अस्थाई रूप से पंचायत भवन आवंटित किए जाने हेतु आश्वस्त किया। साथ ही भविष्य में भवन निर्माण हेतु भू आवंटन एवं प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत भवन निर्माण की प्रक्रिया पूर्ण कराए जाने हेतु आश्वस्त किया। विधायक उमेश द्विवेदी ने अपने स्वयं 11 हजार रुपये की सहायता हेतु प्रदान किए। वित्तविहीन शिक्षक महासभा के संरक्षक राजकुमार दुबे एवं अध्यक्ष मंत्री सहित अनेकों शिक्षकों द्वारा रघुवीर सिंह इन्टर कॉलेज में स्वागत किया। ब्राह्मण स्वाभिमान रक्षा दल की प्रान्तीय महिला प्रभारी एवं जिला संयोजक इंदिरा तिवारी के आवास पर अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं प्रांतीय अध्यक्ष एवं हाई कोर्ट की अधिवक्ताओं का शाल श्रीफल एवं प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। राष्ट्रीय अध्यक्ष उमेश द्विवेदी एवं प्रांतीय अध्यक्ष प्रोफेसर सीएल बाजपेई को सम्मानित करते हुए केदारनाथ तिवारी ने ब्राह्मणों के साथ हो रहे अत्याचारों के प्रति जागृत किया एवं मांग की कि पुन: विष्णु तिवारी जैसे निर्पराध लोगों को सजा भोगने की घटनाएं ना हो इसके लिए हरिजन एक्ट की धारा में संशोधन किए जाने हेतु शासन को पुन: विचार करना चाहिए। साथ ही पुलिस प्रशासन को भी उक्त धाराओं में विवेचना करते समय मुख्य रूप से सभी तत्वों की ओर ध्यान देते हुए कार्रवाई करनी चाहिए। विष्णु तिवारी के केस में विवेचना अधिकारी द्वारा गलत विवेचना किए जाने की निंदा करते हुए ऐसे अधिकारियों को भी दंडित किए जाने की मांग की गई। अवसर पर डा.बाबूलाल तिवारी ने विधायक उमेश द्विवेदी जी से उक्त प्रकरण को मुख्यमंत्री के संज्ञान में लाकर विष्णु तिवारी को झूठे केस में फंसाये जाने और अपने जीवन के अमूल्य बीस वर्ष जेल में बिताये जाने से दुखी माता पिता व भाई की हार्ट अटेक से मौत के बाद बेसहरा एवं अनाथ विष्णु तिवारी को तुरंत आर्थिक सहयोग के साथ आवास की व्यवस्था की मांग की। इस दौरान डीपी मिश्रा, दिनेश गोस्वामी, जयशंकर प्रसाद द्विवेदी, राम सिंह राजपूत, इंदिरा तिवारी, कुमारी अर्चना यादव, रामसखी आदि ने लखनऊ से चलकर ललितपुर निर्दोष विष्णु तिवारी को सांत्वना देंने एवं सहयोग करने हेतु विधायक उमेश द्विवेदी एवं प्रोफेसर सीएल बाजपेई एवं उनके साथ आए अनेक सहयोगियों एवं हाईकोर्ट की महिमा अधिवक्ता का आभार व्यक्त किया। फोटो-पी1 कैप्सन- विष्णु तिवारी से मिलने ग्राम सिलावन पहुंचे राष्ट्रीय अध्यक्ष

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या