मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तमिलनाडु के रामनाथस्वामी मंदिर, रामेश्वरम में पूजा अर्चना की

आज 24 वर्ष बाद, मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम द्वारा सेतुबंध निर्माण के लिए शिवजी की आराधना हेतु स्थापित पवित्र ज्योतिर्लिंग के दर्शन व अभिषेक का अवसर मिला जे रामेस्वर दरसनु करिहहिं। ते तनु तजि मम लोक सिधरिहहिं॥ जो गंगाजलु आनि चढ़ाइहि। सो साजुज्य मुक्ति नर पाइहि॥

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !