संघर्ष करते हुये शहीद हुये व्यापारी नेताओं को दी श्रद्धांजलि

जिला उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मण्डल ने मनाया व्यापारी शहीद दिवस
ललितपुर। 26 मई व्यापारी शहीद दिवस के अवसर पर जगदीश मार्केट व्यापार मंडल कार्यालय पर शहीदों को याद करने के लिए एक श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गई। ईश वंदना के पश्चात शुरू हुई श्रद्धांजलि सभा में सबसे पहले व्यापार मंडल के जनक स्व.लाला विशंभर दयाल के चित्र पर माल्यार्पण किया गया। तत्पश्चात 26 मई 1979 से लेकर वर्ष 2003 तक शहीद हुए 14 व्यापारियों को श्रद्धा सुमन अर्पित किए गए। इस अवसर पर व्यापारी नेताओं ने बताया कि 26 मई 1979 को सबसे पहले पुलिस की लाठी और गोली खाकर हरीश चंद्र अग्रवाल व्यापारी जगत के हितों के लिए संघर्ष करते हुए शहीद हुए थे। इसके बाद वर्ष 2003 तक 14 व्यापारियों ने उत्तर प्रदेश में बिक्री कर, इंस्पेक्टर राज, आवश्यक वस्तु अधिनियम का विरोध करते हुए व्यापारियों के हितों में अपने प्राणों की आहुति दी और शहीद हुए। उन्होंने कहा कि इन व्यापारियों की शहादत के कारण ही आज उत्तर प्रदेश में व्यापारी सम्मान के साथ व्यापार कर पा रहे हैं। उन्होंने बताया कि हरिश्चंद्र अग्रवाल के अलावा तेरह अन्य व्यापारियों की शहादत के बाद से ही प्रदेश भर के व्यापारी 26 मई को शहीद दिवस के रूप में मनाते आए है। उन्होंने बताया कि शहीद हुए व्यापारियों में हरिश्चंद्र अग्रवाल, हरिशंकर अग्रवाल, नित्यानंद कौशिक, अशोक कुमार खंडेलवाल, शिव सिंह, लव केश ओमर, मुन्ने मियांजी, अशोक राय, कमल जैन, रमेश बिंदल, अजय गुप्ता, अमित गुप्ता, राकेश पवार, गोपाल पोद्दार आदि के नाम शामिल हैं। आज की श्रद्धांजलि सभा में उपस्थित सभी व्यापारियों ने उनके मार्ग पर चलने का संकल्प लिया और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। इस श्रद्धांजलि सभा में व्यापार मंडल के प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष महेंद्र जैन मयूर, जिला अध्यक्ष प्रदीप त्रिपाठी, जिला महामंत्री अनिल जैन, महेश सतभैया, अशोक जैन, डा.प्रीतम सराफ, अनिल जैन, अरविंद सिंघई, हेमंत जैन, आकाश जैन, राजीव जैन, राजू नामदेव, बंटी जैन, शिखरचंद जैन, बबलू, अनिल जैन, अविनाश जैन मयूर, नितिन जैन आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या