एक हजार प्रति मिनिट क्षमता वाले ऑक्सीजन प्लांट के निर्माण की स्वीकृति

झांसी में ललितपुर के मरीजों को बैड उपलब्ध न होने पर शासन को पत्र लिखने की संस्तुति
शिवम अग्निहोत्री
ललितपुर। जिलाधिकारी अन्नावि दिनेशकुमार की अध्यक्षता में कोविड-19 कोर कमेटी की बैठक कलेक्ट्रेट पार्क में आयोजित की गई। बैठक में सर्वप्रथम विगत 24 घंटे के कोविड परिणामों पर चर्चा हुई। बैठक में बताया गया कि जिलाधिकारी के प्रयास से जनपद में भारत सरकार द्वारा 1000 लीटर प्रति मिनट क्षमता वाले ऑक्सीजन प्लांट के निर्माण की स्वीकृति प्रदान की गई है, जिसका निर्माण कार्य जिला चिकित्सालय में कल से प्रारंभ किया जाएगा। बैठक में यह भी बताया गया कि झांसी मेडिकल कॉलेज में ललितपुर के मरीजों के लिए 60 बेड आरक्षित किये गए हैं परंतु वहां पर जनपद के मात्र 15 मरीज रखे गए हैं, अन्य आरक्षित बेडों पर जनपद के मरीजों को भर्ती नहीं किया जा रहा है। इस पर जिलाधिकारी ने इस प्रकरण पर अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य एवं अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री को पत्र लिखने के निर्देश दिए। कोविड अस्पतालों की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि कोविड अस्पतालों में कार्य करने वाले सभी कार्मिकों को एन-95 मास्क, ग्लब्स तथा आवश्यकता पडऩे पर उन्हें पीपीई किट अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराएं। फैसिलिटी एलोकेशन की समीक्षा के दौरान निर्देश दिए गए कि फेसेलिटी एलोकेशन सभी मरीजों का किया जाना है,किसी भी दशा में कोई भी मरीज अन ट्रेस न रह जाये। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि कांटेक्ट ट्रेसिंग के दौरान यदि कोई मरीज पोसिटिव पाया जाता है तो तत्काल फेसेलिटी एलोकेशन करते हुए दवाएं उपलब्ध कराएं। वैक्सिनेशन की समीक्षा में बताया गया कि आज 347 लोगों को वेक्सीन लगाई गई है। मौके पर डीसी मनरेगा द्वारा अवगत कराया गया कि मड़ावरा के एमओआईसी द्वारा सहयोग नहीं किया जा रहा है, इस पर जिलाधिकारी ने स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिए। उन्होंने यह भी निर्देश किये कि जनपद में प्रत्येक सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर एक जिलास्तरीय अधिकारी को नोडल नामित किया जाए, जो सम्बन्धित प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में कोविड उपचार की मॉनिटरिंग करेंगे। सेनेटाइजेशन एवं कंटेन्मेंट जोन की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि सभी कण्टेन्मेंट जोन में सघन सफाई एवं फॉगिंग अभियान चलाया जाए। बैठक में पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार, मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार पांडे, अपर जिलाधिकारी वि./रा. अनिल कुमार मिश्र, सीएमओ डा.डी.के.गर्ग, डीसी मनरेगा रविंद्रवीर यादव सहित सम्बन्धित अधिकारी एवं चिकित्सा विभाग के अन्य चिकित्सक उपस्थित रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि