भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेई स्मृति राज्य स्तरीय फुटबॉल -फाइनल मुकाबला-ट्राइब्रेकर में मऊ ने नेपाल को 4 - 2 से हराकर जीता खिताब

 


देवरिया। बैतालपुर स्थित पंचमुखी हनुमान मंदिर  के मैदान में चल रहे भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेई स्मृति राज्य स्तरीय फुटबॉल प्रतियोगिता का फाइनल मुकाबला रविवार को नेपाल ने मऊ के बीच खेला गया। जिसमें ट्राइब्रेकर में मऊ ने नेपाल को 4 - 2 के अंतर से हराकर खिताब पर कब्जा जमा लिया। 


खेल का शुभारंभ बतौर मुख्य अतिथि भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष एमएलसी धर्मेन्द्र सिंह ने अटल बिहारी बाजपेई के चित्र पर माल्यार्पण व खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त कर किया। इस दौरान अध्यक्षता प्रधानाचार्य जा. अजय मणि त्रिपाठी तथा विशिष्ट अतिथि के रुप में संतोष त्रिगुणायत, एसएस सिंह, विनय जायसवाल भी मौजूद रहे। दर्शकों और खेल प्रेमियों से खचाखच भरे मैदान पर शुरु हुए फाइनल के पहले हाफ में ही नेपाल के खिलाड़ी हावी होते हुए कई बार मऊ की टीम पर दबाव बनाए। इसके जवाब में मऊ के खिलाड़ियों ने भी जूझते हुए हर प्रकार के हमले को नाकाम करते दिखे। लेकिन खेल के 29वें मिनट पर नेपाल के खिलाडी कयांडो थापा ने हाई किक से मिले गेंद को गोलपोस्ट में भेज अपनी टीम को बढत दिलाई। दूसरे हाफ में नेपाल के खिलाड़ियों ने कई बार अच्छा बचाव कर टीम पर गोल के खतरे को टाल दिया। जिसमें दोनों ही टीमों के खिलाड़ी गोल करने को लेकर संघर्ष करते रहे। इस हाफ़ के 9वें मिनट पर मऊ के खिलाड़ी मो. कऊफ ने हैडर के जरिए गेंद को गोलपोस्ट में भेज टीम को बराबरी पर ला दिया। इसके बाद दोनों ही टीमों के बीच ज़बरदस्त संघर्ष हुआ लेकिन नतीजा नहीं निकला ।

ट्राइब्रेकर के जरिए नेपाल ने दो गोल दागे, जबकि मऊ की ओर से 4 गोल मारकर प्रतियोगिता के खिताब पर कब्जा जमा लिया। प्रतियोगिता के मैन आफ द मैच नेपाल के खिलाड़ी पुलन थापा तथा मैन ऑफ द सिरीज मऊ के खिलाडी पीटर को मिला। 


इस मौक़े पर प्रतियोगिता के संयोजक सिद्धार्थ मणि त्रिपाठी ने अतिथियों का स्वागत और सभी के प्रति आभार व्यक्त किया। जबकि अध्यक्ष अजय कुमार त्रिपाठी ने स्मृति चिन्ह भेंट किया।

विशिष्ट अतिथि के रूप में आचार्य नीरज शास्त्री, डाक्टर बच्चू शुक्ल, संजय सिंह, कृतनाथ मणि, विजय पाल, श्रीराम यादव, त्रिलोकी जायसवाल, डबलू बरनवाल, भरत मणि त्रिपाठी, सर्वेश नाथ त्रिपाठी, विजय सिंह, अजय सिंह, अनिरुद्ध सिंह, उमेश धर द्विवेदी, दिलीप कुमार आदि उपस्थित रहे। संचालन अमित मणि ने किया।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,